मुम्बई दस्तक – नितिन गडकरी ने इंडिया केम 2018 सम्बोधन में कहा – एथनोल हमारा भविष्य 

भारत विश्व में चमत्कार कर सकता है। 

     – नितिन गडकरी 

केंद्रीय सड़क परिवहन तथा राजमार्ग, जल संसाधन, गंगा संरक्षण- नदी विकास तथा मंत्री नितिन गडकरी ने कहा है कि देश के लिए एथनोल, मेथनोल तथा बॉयो-डीजल जैसे वैकल्पिक ईंधन स्रोतों को अपनाने का अब समय है। नितिन गडकरी आज मुंबई में इंडिया केम 2018 – के उद्घाटन समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने वैकल्पिक ईंधनों के महत्व पर बल देते हुए कहा कि एथनोल हमारा भविष्य है और सरकार ने इसका उत्पादन बढ़ाने का निर्णय लिया है। मंत्रिमंडल ने एथनोल फैक्टरियों को वित्तीय सहायता देने की स्वीकृति दी है। उन्होंने कहा कि देश को आयात घटाने और निर्यात बढ़ाने की आवश्यकता है और इसलिए आयात विकल्प के रूप में नए उपायों को समर्थन देना जरूरी है।इंडिया केम-2018 रसायन और पेट्रो रसायन उद्योग का सबसे बड़ा सम्मेलन है। इसका आयोजन रसायन और उर्वरक मंत्रालय के रसायन तथा पेट्रो रसायन विभाग तथा फिक्की ने किया । इंडिया केम-2018 मुंबई में 04 से 06 अक्तूबर तक आयोजित किया गया है।गडकरी ने कहा कि भारत तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था है और भारत में निवेश करने वालों को काफी लाभ होगा। उन्होंने कहा कि भारत टेक्नोलॉजी, उद्यमियता, नवाचार तथा अनुसंधान और विकास के क्षेत्र के क्षेत्र में अग्रणी है और जिसमें अनेक शोध हो रहे हैं जिनके माध्यम से भारत विश्व में चमत्कार कर सकता है। उन्होंने पारिस्थितिकी और पर्यावरण के महत्व की चर्चा करते हुए कहा कि एथनोल से बॉयो-प्लास्टिक बनाया जा सकता है। जैविक प्लास्टिक पेट्रो रसायन उद्योग के लिए नया विज़न प्रदान कर सकता है।ऊर्जा और विद्युत क्षेत्र की ओर कृषि की विविधता के महत्व पर गडकरी ने कहा कि हमें नई फसलों की पहचान करनी होगी। उन्होंने उद्योग जगत का आह्वान किया कि वह रसायन बनाने के लिए कृषि सामग्री के उपयोग की संभावना की तलाश करें। यह देश के लिए बड़ा परिवर्तनकारी साबित होगा। 

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x