मुस्लिम मजदूरों द्वारा बाबा श्री काशी विश्वनाथ के दरबार में निर्माण का काम करना अनर्थ का कार्य : अजय राय वरिष्ठ कांग्रेस नेता

वाराणसी के श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर (धाम कॉरिडोर) निर्माण में ललिता घाट के पास जर्जर दो मंजिला गोयनका छात्रावास मकान के गिरने के बाद 2 मजदूरों की मौत के मामले ने तूल पकड़ लिया है। कॉरिडोर के निर्माण के दौरान एक जर्जर मकान के गिरने से बंगाल निवासी 2 लोगों की जान चली गई है, जबकि 7 मजदूर घायल हुए हैं। वाराणसी में हुई इस घटना के बाद कांग्रेस पार्टी ने योगी सरकार पर सवाल उठाए हैं। वहीं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व विधायक पिंडरा अजय राय ने श्री काशी विश्वनाथ मंदिर के पुनर्निमाण कार्य में मुस्लिम मजदूरों से काम कराने को लेकर भी सवालिया निशान खड़ा किया है।

— कॉरिडोर हादसे ने कांग्रेस को दिया हमला करने का मौका।
— हादसे के बहाने कॉरिडोर निर्माण में लगे मजदूरों के धर्म पर उठाए सवाल।
–मजदूरों के धर्म के बहाने पीएम मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट पर खड़े किए सवाल।
–मुस्लिम मजदूरों द्वारा बाबा विश्वनाथ के दरबार मे काम करना अनर्थ का कार्य।
— हड़बड़ी में सरकार करा रही काम जिस से हो रही घटनाएं।
— कॉरिडोर निर्माण में हुआ है देव विग्रहो का विध्वंश।
–कॉरिडोर दिखा कर जीतना चाहते हैं 2022 का चुनाव।
— मृतक मजदूरों को मिले 25 लाख।
— घायलों को दें 5 लाख साथ ही सरकारी नौकरी का भी करे सरकार इंतज़ाम।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट श्री काशी विश्वनाथ मंदिर धाम (कॉरिडोर) का निर्माण करने वाली कंपनी ने जर्जर 2 मंजिला मकान में मजदूरों का किया था रहने का इंतेज़ाम।

बाइट: चश्मदीद और हादसे में घायल मजदूर अब्दुल जब्बर ने बताया कि जर्जर मकान में रहने का इंतेज़ाम कंपनी ने किया था।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x