69000 शिक्षक भर्ती की जांच कर रही STF की टीम दिखा रही सुस्ती अभी तक आरोपियों को पकड़ने में रही है नाकामयाब

69 हजार शिक्षक भर्ती की जांच कर रही एसटीएफ की टीम कमजोर साबित हो रही है अभी तक 69 हजार शिक्षक भर्ती परीक्षा पास कराने वाले गिरोह में शामिल नकल माफिया एसटीएफ को भी मात दे रहे हैं।मामले में फरार चल रहे चंद्रमा यादव,केएल पटेल,मायापति दुबे समेत अन्य आरोपी महीने भर बाद भी नही पकड़े जा सके हैं।शासन से सोरांव पुलिस से स्थानांतरित कर विवेचना पिछले महीने एसटीएफ को सौंपी थी।69 हजार शिक्षक भर्ती परीक्षा पास कराने वाले गिरोह का भंडाफोड़ चार जून को हुआ था।सोरांव पुलिस ने मामले मेें महज छह दिन के भीतर 11 आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा था।इसमें सरगना केएल पटेल भी शामिल था।प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए नौ जून को शासन ने विवेचना एसटीएफ को स्थानांतरित कर दी।जिसके बाद टीईटी पेपर लीक मामले के आरोपी चंद्रमा यादव को भी मामले में वांछित किया गया। मायापति दुबे,आलोक उर्फ धर्मेंद्र व दुर्गेश समेत तीन आरोपी पहले से फरार थे।एसटीएफ की टीम ने शहर में विभिन्न स्थानों के अलावा कौशांबी, प्रतापगढ़, भदोही में दबिश दी लेकिन आरोपियों का अब तक कोई सुराग नहीं हासिल कर पाई है।मामले में एसटीएफ अफसरों का यही कहना है कि फरार आरोपियों के हर संभावित ठिकानों पर दबिश दी जा रही है। उन्हें गिरफ्तार करने के प्रयास लगातार जारी हैं।विवेचना प्रचलित है और जो भी तथ्य सामने आएंगे,उसके अनुसार आगे की कार्रवाई की जाएगी।


शिवकुटी में दर्ज केस में भी अभी तक नही हुई कोई कार्रवाई
69 हजार शिक्षक भर्ती परीक्षा पास कराने वाले गिरोह के सरगना केएल पटेल पिछले साल रेलवे भर्ती परीक्षा में धांधली की कोशिश करते पकड़े गए गिरोह के भी संपर्क में था।जिस पर शिवकुटी थाने में दर्ज मामले मेें उसे आरोपी बनाया गया था। सोरांव मामले में गिरफ्तारी के बाद शिवकुटी पुलिस ने भी अपने मुकदमे में उसका रिमांड बनवाया था,हालांकि अब तक इस मामले में भी उसके खिलाफ कार्रवाई आगे नहीं बढ़ सकी है।हालांकि पुलिस का कहना है कि उसके खिलाप साक्ष्य एकत्रित किए जा रहे हैं। साक्ष्यों के अनुसार कार्रवाई आगे बढ़ाई जाएगी।लोगो का आरोप यह है कि अगर इन लोगो को पकड़ा गया तो 69000 शिक्षक भर्ती रद्द हो सकती है इसी लिए इन्हें अभी तक पकड़ा नही गया है। इस परीक्षा में शामिल प्रतियोगी छात्र इस शिक्षक भर्ती की न्यायिक जांच की मांग कर रहे हैं।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
1 Comment
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
....
3 months ago

जिस भर्ती में मिली भगत उच्चाधिकारियों व मंत्रियों की हो सर तो वहां लीपा-पोती होती है न कि न्यायसंगत कार्य,और जितनी खामियां इस भर्ती में अभ्यर्थियों ने खोजी क्या एक भी कमी पुलिस विभाग को नही मिली।सारे तथ्य को बस छिपाया जा रहा है।इस परीक्षा का पेपर दुबारा होना चाहिए।

1
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x