8 वर्ष की साइवी का नाम ‘इंडिया बुक ऑफ रिकॉड्र्स’ में दर्ज-

उदयपुर – राजस्थान की बेटी ने किया पूरे देश का नाम रोशन – पढ़ाई के साथ इंटरनेशनल ओलम्पियाड और मेंटल मैथ्स अबेकस में भी उसका प्रदर्शन बेहतरीन रहता है।

आठ साल की साइवी सिंह का नाम कम उम्र में ही ‘इंडिया बुक ऑफ रिकॉड्र्स’ में दर्ज हो गया है। साइवी ने अब तक 1443 कहानियां सुनाकर ‘इंडियन स्टोरी टेलिंग प्रोडिजी’ का रिकॉर्ड बनाया।

उसके लिए उसे मैडल और सर्टिफिकेट देकर सम्मानित किया गया। अब साइवी का लक्ष्य ‘गिनीज बुक ऑफ रिकॉड्र्स’ में नाम दर्ज कराना है।

साइवी के अनुुसार भारत के प्रसिद्ध प्रकाशन अमर चित्रकथा के टिंकल कॉमिक्स की राजस्थान से पहली स्कॉड है। उनसे इस कॉमिक्स के बारे में हर महीने राय ली जाती है। साइवी इंटरनेशनल स्टोरी टेलिंग फे स्ट-उदयपुर टेल्स में भी अपनी कहानी से सबका दिल जीत कर प्रथम स्थान प्राप्त कर चुकी है।

साइवी को कहानियां और कविताएं लिखना भी पसंद है। साइवी के पिता किसलय कुमार और मां सभ्यता ने बताया कि साइवी का जन्म नैरोबी में हुआ।

उसे शुरू से ही कहानियां सुनना पसंद था। धीरे-धीरे वो स्टोरी बुक्स से सभी कहानियां पढऩे लगीं। उसे किताबों से कहानियां पढऩे का ऐसा शौक लगा कि वो हर दिन 4 से 5 किताबें पढ़ लेती है। पढ़ाई के साथ इंटरनेशनल ओलम्पियाड और मेंटल मैथ्स अबेकस में भी उसका प्रदर्शन बेहतरीन रहता है।

साइवी सुबह से रात तक अपनी किताबों की दुनिया में मस्त रहती है। बीमार होने पर भी वह किताब पढऩा नहीं छोड़ती है। कहानियां पढऩे के साथ ही उसे कहानियां सुनाने का भी बहुत शौक है।

उसे बच्चों को कहानियां सुनाने का बहुत शौक है। वह पूरे हावभाव और भावनाओं के साथ कहानी सुनाती है। साइवी चाहती है कि उदयपुर में बच्चों के लिए लाइब्रेरीज खुले।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x