अमेरिकी विमान निर्माता कंपनी बोइंग के CEO को मांगनी पड़ी माफी-

बोइंग सीईओ का बयान – ये त्रासदी हमारे दिल और दिमाग पर भारी पड़ रही है। हम उनके प्रियजनों के प्रति सहानुभूति प्रकट करते हैं। 
अमेरिकी विमान निर्माता कंपनी बोइंग के मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी (सीइओ) डेनिस मुइलबेनबर्ग ने गुरुवार को इंडोनेशिया और इथियोपिया में बोइंग 737 मैक्‍स विमान दुर्घटना में मारे गए 346 लोगों के लिए सार्वनिक रूप से माफी मांगी है। मुइलबेनबर्ग ने अपने माफीनामे में कहा कि बोइंग 737 मैक्‍स में दुर्घटनाओं में खोए हुए जीवन के लिए दिल से खेद प्रकट करते हैं।
इतनी बड़ी दुर्घटना के 25 दिनों के बाद बयान पर बवाल-
उन्‍होंने कहा कि ये त्रासदी हमारे दिल और दिमाग पर भारी पड़ रही है। हम उनके प्रियजनों के प्रति सहानुभूति प्रकट करते हैं।सोचने वाली बात तो यह है कि बोइंग सीइओ का यह माफीनामा विमान दुर्घटना के 25 दिन बाद आया है। बोइंग कंपनी के सीइओ ने कहा कि बहुत जल्‍द ही दोनों विमान दुर्घटनाओं का विवरण पेश किया जाएगा। 
जगजाहिर है कि 10 मार्च, 2019 की सुबह इथियोपिया एयरलांइस का बोइंग 737 मैक्‍स 8 विमान दुर्घटनाग्रस्‍त हो गया था। इसमें चार भारतीय समेत 157 लोगों की मौत हो गई थी। यह विमान उड़ान भरने के करीब छह मिनट बाद ही हो गई थी।
उस वक्‍त विमान की ऊंचाई 8600 फीट और रफ्तार 441 किमो प्रतिघंटा थी। छह महीने में बोइंग के इसी मॉडल का दूसरा प्‍लेन क्रैश होने से पूरी दुनिया में इसके इस्‍तेमाल कर रही एयरलाइंन कंपनियों में हड़कंप मच गया था।
इथियोपिया क्रैश के बाद 18 से ज्यादा देशों ने इन विमानों की उड़ान पर रोक लगा दी है, जबकि कई देशों ने इन विमानों के लिए अपना एयर स्पेश भी बंद कर दिया है। इससे पहले इंडोनेशियाई कंपनी लॉयन एयर का इसी मॉडल का नया विमान जकार्ता में अक्टूबर 2018 में क्रैश हुआ था।
इस विमान हादसे में भी 189 लोगों की मौत हुई थी। ताज्जुब तो यह है कि क्रैश होने वाले ये दोनों विमान बिल्कुल नये थे। सीएनएन की एक रिपोर्ट के अनुसार अगर समय रहते विमान में आ रही तकनीकी खामियों पर ध्यान दिया जाये तो ऐसे हादसे टाले जा सकते हैं।
0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x