ऑपरेशन पाताल के तहत औरैया पुलिस को मिली बड़ी सफलता, अवैध असलहे की फैक्टरी का भंडाफोड़, तीन अपराधी गिरफ्तार

औरैया जिले में पुलिस ने अवैध असलाह तस्करों की कमर तोड़ दी है। दरअसल, पुलिस ने ऑपरेशन पाताल के तहत छापेमारी करते अवैध शस्त्र फैक्टरी का भंडाफोड़ करते हुए तीन अभियुक्तों को गिरफ्तार किया है। इस दौरान पुलिस ने 45 निर्मित और अर्धनिर्मित अवैध असलहों सहित 19 कारतूस व असलहा बनाने के औजार बरामद किए हैं।

उत्तर प्रदेश में अवैध असलहों के प्रयोग की रोकथाम के लिए ऑपरेशन पाताल चलाया जा रहा है। इस अभियान के तहत पुलिस ताबड़तोड़ कार्रवाई कर रही है। इसी क्रम में औरैया पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। इसके तहत अवैध शस्त्र फैक्टरी का खुलासा किया गया है।  पुलिस ने छापेमारी में तीन अभियुक्तों के पास से 45 निर्मित और अर्धनिर्मित अवैध असलहों सहित 19 कारतूस व असलहा बनाने के औजार बरादम किए हैं।

वहीं, ऑपरेशन की सफलता पर औरैया के एसपी ने खुलासा करने वाली पुलिस टीम को 15 हजार रुपए का पुरस्कार देने की घोषणा की है। बता दें कि अपर मुख्य सचिव, गृह उत्तर प्रदेश महोदय और पुलिस महानिदेशक उप्र पुलिस के आदेशानुसार संपूर्ण प्रदेश में ऑपरेशन पाताल चलाया जा रहा है।

आपराधिक गतिविधियों की रोकथाम के लिए चलाये जा रहे अभियान के क्रम में मुखबिर  व अन्य माध्यमों से लगातार अवैध असलाह के निर्माण और तस्करी के संबंद्ध में सूचनाएं प्राप्त हो रही थी। इस पर कार्रवाई करते हुए थाना बेला व एसओजी टीम द्वारा संयुक्त रूप से  बेला विना मार्ग में धन्ना पुरवा के पास घने जंगल में संचालित अवैध असलाह फैक्टरी का भंडाफोड करते हुए तीन अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया।

अवैध शस्त्र फैक्टरी का किया भंडाफोड़

पुलिस अधीक्षक अभिषेक वर्मा ने बताया कि अपर पुलिस अधीक्षक के कुशल निर्देशन व क्षेत्राधिकारी बिधूना के नेतृत्व में एसओजी टीम व थाना बेला पुलिस द्वारा जनपद में संचालित अवैध शस्त्र फैक्टरी का भंडाफोड़ किया गया। इसमें 45 निर्मित विभिन्न प्रकार के अर्धनिर्मित और असलाह बनाने के उपकरण 19 कारतूस सहित अवैध शस्त्र निर्माण करने वाले तीन अभियुक्तों व तस्करों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है।

जंगल में बनाते थे तमंचे 

पुलिस अधीक्षक ने जानकारी देते हुए बताया कि 21 मई को थाना बेला व एसओजी टीम ने संयुक्त रूप से कार्रवाई करते हुए बेला के अंतर्गत बेला बिधूना मार्ग पर धन्ना पुरवा के पास घने जंगल में असलाह फैक्टरी संचालित हो रही थी। पुलिस ने सटीक सूचना पर कार्रवाई करते हुए तीन अभियुक्तों को मौके से गिरफ्तार कर लिया। इसके अलावा भारी मात्रा में रंगीन तमंचे बरामद किए हैं।

छापेमारी में तीन अभियुक्त हुए गिरफ्तार

पुलिस की पूछताछ में युवकों ने जानकारी दी कि वह लोग अवैध असलहे की तस्करी करते हैं। यह असलहे 5 से 6 हजार तक में बिक्री होते हैं। वहीं, पुलिस अधीक्षक ने बताया कि अभियान के दौरान मुख्य अभियुक्त रामदुलारे शर्मा पुत्र स्वर्गीय रामाधार निवासी भटपुरा एरवाकटरा हाल पता नंगला भागा थाना भरथना जनपद इटावा, प्रदीप कुमार पुत्र स्वर्गीय राजेश दिवाकर निवासी दखलीपुर थाना फफूंद एवं शुगर सिंह पुत्र सोबरन सिंह निवासी काजल मार्बल थाना दिबियापुर को गिरफ्तार किया है। सभी के खिलाफ मुकदमा दर्ज करते हुए कार्रवाई की गई है।

बरामद हुए अवैध तमंचे

गिरफ्तार करने वाली टीम में यह लोग रहे शामिल 
असलाह फैक्टरी का भंडाफोड़ करने में निरीक्षक सत्येंद्र सिंह यादव प्रभारी एसओजी, हेड कांस्टेबल प्रवीण यादव, रूपेंद्र कुमार, संजय कुमार, कांस्टेबल धर्मेंद्र कुमार, दीपक कुमार, प्रभात मणि त्रिपाठी, अमित कुमार, सुबोध कुमार, ललित कुमार, विवेक कुमार और धर्मेंद्र शर्मा के अलावा थाना प्रभारी निरीक्षक जीवाराम, उप निरीक्षक राजपाल सिंह, हेड कांस्टेबल मदन सिंह, कांस्टेबल वीर सिंह, विपिन कुमार और राशिद खान शामिल रहे।

 

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x