गंगा का जलस्तर घटते हैं प्रशासन ने बाढ़ राहत चौकियों को किया बंद

सच की दस्तक डेस्क चन्दौली

मोतीलाल गुप्ता की रिपोर्ट

जनपद के पड़ाव  क्षेत्र के बहादुरपुर गांव में स्थित सरकारी स्कूल पर बनाए गए बाढ़ राहत चौकी को प्रशासन के आदेश द्वारा बंद करने का आदेश दिया गया ।वहीं शिविर में रह रहे लोगों को उनके घर जाने का आदेश दे दिया गया वहीं दूसरी तरफ शिविर में रह रहे लोगों के घर से पानी तो हटा है लेकिन घुटनों पर कचरे से भरा हुआ है जो कि अभी रहने योग्य नहीं है। जिसको साफ सुथरा करने में 1 से 2 दिन का समय लग सकता है इस हालात में वह कहां जाए यह वह खुद समझ नहीं पा रहा है । वहीं जिला प्रशासन को कोस रहे अभी भी 3 परिवार ऐसे वहां पर थे जो अपने पति और पुत्र का इंतजार करते शाम तक किए जो वाराणसी में कार्य करते हैं उनके आने के पश्चात घर जाएंगे अब किस स्थिति में जाएंगे अपने घर को किस तरह साफ करेंगे तो आप होने के बाद जानवरों का भी खतरा क्या जिला प्रशासन सोचने के लिए नहीं तैयार वहीं तीन परिवारों का आरोप है कि दो टाइम का भोजन तो मिला नहीं मिला यहां तक कि जिन लोगों को घर जाने के लिए गाया गया उस दिन बिना भोजन मिला ना कोई राशन शनिवार के दिन जिस दिन शुरुआत किया गया था उस दिन भी भोजन नहीं बाढ़ पीड़ित का कहना है कि उसे घर में अभी भी पानी भरा है और बाढ़ पानी ढेर सारा की छोड़ो रहने योग्य नहीं वही आरोप लगाया की दो टाइम का खाना दिया जाता था परंतु ना सुबह में नाश्ता मिलता था ना शाम वहीं जब इस बाबत बाढ़ चौकी इंचार्ज कानूनगो से बात किया गया उन्होंने बताया कि नाश्ते में केला और बिस्किट दिया जाता था जबकि चौकी में रह रहे परिवारों का कहना था कि सिर्फ सोमवार के दिन ही नाश्ते में अकेला दिया गया था बाकी किसी दिन भी नहीं दिया गया था बच्चे के परिवारों में सबीना पत्नी अनवर शमीमा बानू पत्नी स्वर्गीय इरफान सदस्य थे ज्योति देवी पत्नी विनोद 7 सदस्य मौजूद है।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x