बीएचइएल और लिबकॉइन भारत की पहली लिथियम आयन गीगा फैक्ट्री का करेगें निर्माण-

भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड (बीएचईएल) और लिबकॉइन भारत में 1 जीडब्ल्यूएच लिथियम आयन बैट्री संयंत्र के निर्माण के लिए वार्ता कर रहे हैं।

 

         इस संयंत्र की क्षमता 30 जीडब्ल्यूएच तक बढ़ाई जाएगी। इसके साथ ही भारत ने ऊर्जा सुरक्षा और स्वच्छ ऊर्जा के क्षेत्र में अपनी प्रतिबद्धता को स्पष्ट किया है।

       

      भेल जल्द ही सुविधाओं, आरएंडडी अवसंरचना तथा अन्य तकनीकी – व्यवसायिक मामलों के अध्ययन के लिए उच्च अधिकारियों की एक टीम भेजेगी। टीम के मूल्यांकन और अनुशंसाओं के आधार पर संयुक्त उद्यम के गठन को आगे बढ़ाया जाएगा।

     

     इस परियोजना से ऊर्जा आत्मनिर्भरता आएगी तथा तेल आयात में कमी आएगी। यह परियोजना मेड बाई इंडिया फॉर इंडिया के तहत शुरू की जाएगी। इसके अतंर्गत प्रमुख मशीनों का निर्माण देश में किया जाएगा।

 

       दिल्ली सहित देश के कई नगर अपने प्रदूषण स्तर को कम करने के लिए अथक प्रयास कर रहे हैं। बिजली आधारित परिवहन व्यवस्था से उत्सर्जन में कमी आएगी।

 

       पिछले वर्ष के दौरान पूरे विश्व में बिजली से चलने वाली कारों की संख्या दस लाख तक पहुंच गई है और अंतर्राष्ट्रीय ऊर्जा एजेंसी ने 2030 तक पूरे विश्व में बिजली चालित कारों की संख्या 140 मिलियन होने का अनुमान लगाया है।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x