बीएचयू : एक्सेप्ट ट्रांसजेंडर्स कार्यक्रम

काशी, 01 मार्च 2019, सच की दस्तक न्यूज़।

काशी हिन्दू विश्वविद्यालय की कला संकाय की इकाई की कार्यक्रम अधिकारी डॉ• नेहा पाण्डेय के निर्देशन में आयोजित राष्ट्रीय सेवा योजना के सात दिवसीय विशेष शिविर के दूसरे दिन ‘एक्सेप्ट ट्रांसजेंडर्स’ विषय पर स्वयंसेवकों ने ट्रांसजेंडर के प्रति संवेदनशीलता को प्रदर्शित करने वाले स्वहस्त निर्मित मुखौटों के माध्यम से सुंदर बगिया बस्ती में व्यापक जन जागरुकता अभियान चलाया।

आकर्षक मुखौटों पर लेट्स गो बियॉन्ड द बाइनरी ट्रांस प्राइड, एलजीबीटीक्यू डिज़र्व रेस्पेक्ट, किन्नरों के सम्मान में बीएचयू मैदान में, वी आर गॉड’स चाइल्ड नारों के माध्यम से स्वयं सेवकों ने लोगों में एक नये सोच को अंकुरित किया।

साथ ही डॉ• नेहा पाण्डेय ने स्वयंसेवकों को सम्बोधित करते हुए बताया कि राष्ट्रीय सेवा योजना शान्ति का सिपाही और समरसता का आग्रही है, यह समतामूलक समाज की स्थापना में अपना योगदान देने के लिए प्रतिबद्ध है।

लिंग संवेदीकरण समतामूलक समाज की स्थापना में सबसे बड़ी आवश्यकता है। एलजीबीटीक्यू समूह के अंतर्गत आने वाले लोग भी हमारे समाज का अभिन्न अंग हैं। समाज में वे भी समानता के अधिकारी हैं। उन्हें भी सम्मान के साथ स्वावलंबी होकर जीने का हक़ है। कानून से ज्यादा सोच को बदलने की आवश्यकता है।

प्रथम सत्र में स्वयंसेवकों ने महिला महाविद्यालय तथा सेन्टर फ़ॉर वीमेनस स्टडीज एंड डेवलपमेंट के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित

“बियॉन्ड दी बाइनरी : अ लुक एट जेंडर डायवर्सिटी”

शीर्षक राष्ट्रीय सेमिनार में सहभागिता की जिसमें ट्रांसजेंडर सलमा व प्रख्यात लेखिका चित्रा मुद्दगल मौजूद थीं।

इस दौरान अंकित, अभिजीत, प्रदीप, मधु, प्रशांत, पीयूष, सनी, कीर्ति, विमलेश, राकेश आदि मौजूद रहे।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x