बीकानेर सालू दुष्कर्म मामले में कोई गिरफ्तारी नहीं –

बीकानेर।  एम.एस.कॉलेज की छात्रा के साथ हुई हैवानियत के बाद हर किसी को झकझोर दिया है। बीकानेर की बेटी ‘शालू’ के हत्याकांड मामले में बीकानेर एसपी कोठी के आगे प्रदर्शन कर रहे लोगों पर लाठी चार्ज कर दिया गया है। जानकारी के अनुसार यहां महिलाओं को भी जनाना पुलिस के बिना खदेड़ा गया, यहां तक कि लाठी भी भांजी गई। बता दें कि बीकानेर की बेटी ‘शालू’ हत्याकांड मामले में दिन के बाद अब शाम को भी लोग सड़कों थे जो सार्दुलगंज से कैंडल मार्च निकालकर एसपी की कोठी के आगे पहुंच गए। आरोप है कि एसपी प्रदीप मोहन शर्मा दिन में भी बाहर नहीं आए।

इस भयावह घटना से चारो ओर हाहाकार मचा हुआ है। लोगों की आंखे नम है, हाथ में मोमबत्तियां है। इस हत्यकाण्ड को लेकर भाजपा नेता सुरेन्द्र सिंह शेखावत का कहना है कि बीकानेर की बेटी की जघन्य हत्या के मामले में निष्पक्ष जांच और मुल्जिमों को कड़ी सजा दिलाने के लिए हम कृत संकल्पित है। पुलिस प्रशासन अपनी आदत बदल लें ,बीकानेर के नागरिकों की धैर्य की सीमा खत्म हो चुकी है , अब परिणाम चाहिए । नहीं तो ऐतिहासिक स्तर पर जनआंदोलन झेलने के लिए तैयार रहे ।

पुलिस की ठोस कार्यवाही नहीं, उसकी का परिणाम है अपराधियों के हौंसले बुंलद-

भाजपा नेता सुरेन्द्र सिंह ने बताया कि जिले में पिछले तीन माह से कानून व्यवस्था की हालत बदहाल है , औसतन रोजाना चार दुष्कर्म और बलात्कार के मुकदमे दर्ज हो रहे है, संवेदनहीनता के हालात यह है कि ऐसे गम्भीर मामलों में भी पुलिस का रवैया कामचलाऊ ही रहता है , कहीं ठोस कार्यवाही नजर नहीं आती ।उसी का परिणाम है कि अपराधियों के हौंसले बुलंद हो गए है । जबकि पुलिस को ऐसे लोगों को पकड़कर जमकर कूटना चाहिए और कुटाई का वीडियो वायरल करना चाहिए । 

बीकानेर की बेटी को न्याय दिलाने को लेकर शहरवासियों द्वारा कैंडल मार्च निकाला जा रहा है। लोगों की आंखे नम है, हाथ में मोमबत्तियां है। अभी-अभी कैंडल मार्च एसपी कोठी के आगे पहुंचा है। शहरवासियों को संबोधित करते वक्त जनसेवक दुर्गासिंह भावुक हो गए है। दुर्गासिंह ने कहा कि साथियों ज्वाला की आग ठण्डी मत पडऩे देना, जब तक बीकानेर की बेटी को न्याय मिले। साथ ही दुर्गासिंह ने कहा कि मां करणी की धरती पर अपराध करने वालो को किसी भी सूरत में बख्सा नहीं जाएगा।

अब तक पुलिस यह जांच नहीं कर पाई कि अपराध क्यों घटित हुआ ?

बेटियां हम सब की प्यारी होती है । बीकानेर की एक बेटी के साथ कुछ वहसी दरिंदो ने जो कुकृत्य किया है वह सभ्य समाज के मुंह पर कलंक पोतने जैसा है ।
बता दें कि शालू 18 अगस्त को गायब हुई थी, 19 को गुमशुदगी दर्ज हुई , 20 को डेडबॉडी मिली उसी दिन एफआईआर दर्ज हो गई । आज 25 अगस्त है परन्तु अभी तक बीकानेर पुलिस यह जांच नहीं कर पाई कि यह अपराध क्यों घटित हुआ और अभी तक कोई गिरफ्तारी भी नहीं हुई है  जोकि बेहद दुखद है।

-टीम दस्तक बीकानेर की बेटी सालू को जल्द न्याय के लिए व उसकी आत्मा की शांति के लिए भगवान से प्रार्थना करती है। 

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x