रोहिणी विधानसभा में फ‍िर खिला कमल, AAP को मिली बड़ी निराशा

 रोहिणी विधानसभा में फ‍िर खिला कमल, AAP को मिली बड़ी निराशा

रोहिणी सीट पर भाजपा के मौजूदा विधायक विजेंद्र गुप्ता ने अपनी जीत को दोहराते हुए यहां आम आदमी पार्टी (आप) के उम्‍मीदवार राजेश नामा को परास्‍त किया। भाजपा के लिए यह बेहद खास सीट थी। 2020 के विधानसभा चुनाव में सबकी निगाहें यहां टिकी हुई थीं। बता दें कि 2015 के विधानसभा चुनाव में आप ने ऐतिहासिक प्रदर्शन किया था। 70 में से 67 सीटों पर जीत हासिल की थी। लेकिन जिन तीन सीटों पर जीत हासिल नहीं कर सकी उसमें एक रोहिणी सीट भी शामिल है। इसलिए आप की निगाहें इस सीट पर टिकी थीं।

भाजपा के लिए यह सीट प्रतिष्‍ठा का विषय थी। इस गढ़ को बचाना भाजपा के शीर्ष नेताओं के लिए एक बड़ी चुनौती थी। वहीं आप के लिए इस सीट को अपनी झोली में डालना बड़ा लक्ष्‍य था। हालांकि, रोहिणी में भाजपा और आप के बीच कांटे की टक्‍कर थी। मतगणना के दौरान चौथे राउंड तक इस सीट पर आप के राजेश नामा आगे चल रहे थे, लेकिन मतगणना  के पांचवे राउंड में भाजपा आप से आगे निकल गई। चार चरणों तक भाजपा नेताओं की सांसे अटकी रहींं। कई राउंड तक भाजपा प्रत्‍याशी दूसरे स्‍थान पर रहे, लेकिन बाद के चरणों में विजेंद्र गुप्‍ता ने बढ़त हासिल कर ली। फ‍िलहाल रोहिणी सीट भाजपा की झोली में गई। बता दें कि सन 2015 में भाजपा के विजेंद्र गुप्ता ने आम आदमी पार्टी के सीएल गुप्ता को करीब 5000 वोटों से शिकस्त दी थी,  जबकि 2013 में आप करीब 1800 वोटों से यह सीट जीतने में कामयाब रही थी।  

 विजेंद्र गुप्ता 

  • भाजपा के वरिष्‍ठ नेता विजेंद्र गुप्‍ता को वर्ष 2013 में दिल्ली की सबसे बड़ी सीट नई दिल्ली से पार्टी ने चुनावी मैदान में उतारा था। इस चुनाव में उनकी करारी हार हुई। वह तीसरे स्‍थान पर रहे। 
  • साल 2015 के विधानसभा चुनाव में गुप्ता को सबसे बडी जीत हासिल हुई। उन्होंने आप के उम्मीदवार को करीब पांच हजार वोटों से हराया। वह भाजपा के उन तीन विधायकों में से एक थे, जो आम आदमी पार्टी की आंधी के बावजूद अपनी सीट बचाने में कामयाब रहे। 
  • गुप्ता को 16 अप्रैल, 2015 को दिल्ली विधानसभा में विपक्ष का नेता नियुक्त किया गया। विजेंद्र गुप्ता साल 1997-98  में एमसीटी की लॉ एंड जनरल कमेटी का हिस्सा थे।
  • 1998-2010 तक वह स्टैंडिंग कमेंटी के मेंबर रहे। वह श्री राम कॉलेज ऑफ कॉमर्स के छात्र रहे। उन्होंने यहां से एमकॉम की पढ़ाई की।

वह छात्र राजनीति में भी काफी सक्रिए रहे, वे दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ के उपाध्यक्ष भी रहे। विजेंद्र गुप्ता तीन बार रोहिणी क्षेत्र से निगम पार्षद रहे, वे भाजपा की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष पद पर भी थे।

 राजेश नामा बंसीवाला

  •  राजेश नामा बंसीवाला आम आदमी पार्टी के रोहिणी विधानसभा क्षेत्र के संगठन मंत्री हैं। राजेश पेशे से एक व्यापारी हैं। अपने इलाके में वह बंसीवाला स्वीट्स के कारण जाने जाते हैं।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *