सावधान! भूलकर भी इन websites पर क्लिक न करें, हो सकता है नुकसान

जानिए वे कौन सी साइट्स हैं, जिन्हें पीआईबी ने घोषित कर रखा है धोखाधड़ी वाली वेबसाइट्स

 वर्तमान में साइबर क्राइम का ग्राफ दिन-प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है। कोरोना महामारी के चलते देश में तमाम प्रकार के कार्यों को आॅनलाइन करने पर जोर दिया जा रहा है। फलस्वरूप अब लोग अपने विभिन्न प्रकार के कार्य जैसे कि आॅनलाइन रिचार्ज, टिकट बुकिंग, आॅनलाइन शापिंग, बैंकिंग संबंधी कार्य तथा विभिन्न प्रकार की सरकारी योजनाओं संबंधी आॅनलाइन फार्म भी भरे जा रहे हैं। आॅनलाइन सेवाओं से हमें जहां एक ओर सुविधा मिलती है वहीं कई बार लोग साइबर क्राइम का शिकार भी हो जाते हैं। ऐसे में यह ध्यान रखना अतिआवश्यक होता है कि कोई वेबसाइट कितनी सुरक्षित है या कितनी असुरक्षित? पीआईबी की ओर कुछ वेबसाइट्स को धोखाधड़ी वाली वेबसाइट घोषित किया गया है। जानिए कौन-कौन सी ये वेबसाइट्स हैं?

  1. http://centralexcisegov.in/aboutus.php
    इस वेबसाइट को आप खोलने पर पाएंगे कि इसकी मेन हैडिंग में आबकारी विभाग रोजगार योजना भारत सरकार लिखा हुआ है। साथ ही में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का फोटो भी आपको इस वेबसाइट पर देखने को मिलेगा। इस वेबसाइट में लगभग 40 करोड़ लोगों को इस योजना के अन्तर्गत रोजगार देने की बात कही गयी है। वहीं इस पर आप आॅनलाइन एप्लाई भी कर सकते हैं, जिसके बाद आपसे धनराशि जमा करने को कहा जाएगा।
    आपको बता दें कि ये कोई सरकारी वेबसाइट नहीं है। यह केवल सरकारी वेबसाइट जैसे दिखने वाली एक धोखाधड़ी वाली वेबसाइट है।
  2. https://register-for-your-free-scholarship.blogspot.com/
    इस ब्लाॅगस्पाट वेबसाइट पर फ्री स्काॅलरशिप मिलने की बात कही गयी है। इस ब्लाॅगस्पाॅट वेबसाइट में कहा गया है कि ‘‘कोरोना वायरस महामारी के कारण छात्र स्कूल और कॉलेजों की फीस का भुगतान करने में असमर्थ हैं। इसलिए सरकार सभी छात्रों को 11000 रू. की मुफ्त धनराशि प्रदान कर रही है। ताकि वे अपनी फीस आसानी से दे सकें। सभी छात्र जो स्कूल और कॉलेजों में हैं उन्हें इस योजना का लाभ मिलेगा।’’
    आपको बता दें कि ऐसी कोई योजना सरकार की ओर से नहीं चलाई गयी थी। ये केवल एक फर्जी धोखाधड़ी वाली वेबसाइट है।
  3. https://kusmyojna.in/
    पीएम कुसुम योजना के हैडिंग वाली ये वेबसाइट दावा करती है कि ये योजना भारत सरकार द्वारा किसानों के लिए चलाई जा रही है। इस वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन कर आपको सोलर पंप देने की बात कही गयी है। ये पूर्णतः धोखाधड़ी वाली वेबसाइट है।
    इस योजना में भागीदारी के लिए पात्रता और जानकारी MNRe की वेबसाइट www.mnre.gov.in पर उपलब्ध है. जरूरत है तो MNRe की वेबसाइट पर जा सकते हैं।
  4. https://www.kvms.org.in/
    हिन्दी में किसान विकास मित्र समिति तथा अंग्रेजी में क्मचंतजउमदज व ि।हतपबनसजनतमए ब्ववचमतंजपवद ंदक थ्ंतउमते ॅमसंितम से ये वेबसाइट है। यह बिल्कुल सरकारी वेबसाइट जैसे ही नजर आती है लेकिन यह सरकारी वेबसाइट नहीं है। बल्कि यह एक फर्जी वेबसाइट है। इस वेबसाइट पर फर्जी वेकेन्सी निकालकर फीस के नाम पर लोगों से अच्छा खासा पैसा उगाया जाता है। यह भी धोखाधड़ी वाली फर्जी वेबसाइट है।
  5. https://register-form-free-tablet.blogspot.com/
    यह वेबसाइट एक फार्म उपलब्ध करवाती है और दावा करती है फ्र टैबलेट देने का। इसमें फार्म जमा करने की अंतिम तिथि 10 दिसम्बर 2020 दिखाई जा रही है। नीचे फार्म दिया गया है। उसके नीचे टैबलेट की स्पेसिफिकेशन भी दीगयी हैं। साथ ही 15 दिसम्बर से टैबलेट वितरित करने की बात भी कही गयी है।
    यह वेबसाइट भी एक धोखाधड़ी वाली वेबसाइट है।
  • इन सभी वेबसाइट्स के अलावा भी किसी भी वेबसाइट पर अपनी किसी भी प्रकार की जानकारी साझा करने से पूर्व कुछ बातों का ध्यान अवश्य रखना चाहिए।
  • किसी भी सरकारी वेबसाइट के अंत मंे gov.in, nic.in आदि जरूर होता है। इसके लिए आप guidelines for Indian Government websites पढ़ सकते हैं।
  • असुरक्षित साइट्स HTTP से शुरू होती हैं और इसमें लॉक या ताले का निशान नहीं दिखाई देता है। वहीं सुरक्षित वेबसाइट्स HTTPS से शुरू होती हैं और लॉक निशान के साथ होती हैं। इसका मतलब होता है कि वेबसाइट सुरक्षित हैं।
  • ये साइट्स प्रायः फॉर्म भरने के लिए कहती हैं और उसमें व्यक्तिगत जानकारियां मांगती हैं जैसे, नाम, बैंक खाता संख्या, जन्मतिथि, पता, पैन, पासवर्ड और क्रेडिट कार्ड संबंधी जानकारी। इन साइट्स से हमें सावधान रहना चाहिए अन्यथा नुक्सान हो सकता है.
0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x