क्राइम ब्रांच ने दबोचे आदित्य गैंग के तीन शूटर

अमीन अहमद की रिपोर्ट

बिजनोर–हरदोई जेल में बंद कुख्यात आदित्य अभी भी पुलिस के लिये सिर दर्द बना हुआ है। वह जेल से ही गैंग को संचालित कर रहा है। क्राइम ब्रांच व पुलिस ने मुठभेड़ कर उसके गैंग के तीन शूटरों को गिरफ्तार कर लिया जबकि उनका चौथा साथी फरार होने में कामयाब रहा। गिरफ्तार शूटरों ने आदित्य के खिलाफ गवाही देने वालों को मौत के घट उतारा था। इनके पास से लूट व चोरी की बाइकों के साथ पिस्टलें आदि भी बरामद की गयी हैं।
रविवार दोपहर पुलिस अधीक्षक उमेश कुमार सिंह ने पुलिस लाइन सभागार में प्रेस वार्ता कर बताया कि हरदोई जिला कारगार में बंद कुख्यात बदमाश आदित्य का गैंग अभी भी अपराधिक वारदातों को अंजाम दे रहा है। इस गैंग की धरपकड़ के लिये एएसपी सिटी व सीओ सिटी के निर्देशन में कई पुलिस टीमें लगी हुई हैं। शनिवार देर सायं क्राइम ब्रांच की स्वॉट व सर्विलांस टीम आदित्य गैंग की तलाश में किरतपुर क्षेत्र में मौजूद थी। इस दौरान मुखबिर की सूचना पर दोनों टीमों ने किरतपुर पुलिस को साथ लेकर ग्राम अजगरपुर रोड पर गैंग की घेराबंदी की। पुलिस टीम को देखकर मौके पर मौजूद चारों बदमाश फायरिंग करते हुए फरार होने का प्रयास करने लगे, लेकिन पुलिस ने मालन नदी के पास से बदमाशों में शामिल अक्षय पुत्र मंगल सिंह निवासी ग्राम अभीपुरा थाना नांगल, पवन पुत्र संजय गिरी निवासी मौहल्ला विश्नोई सराय नगीना व वेद प्रकाश उर्फ गोलू पुत्र प्रदीप कुमार निवासी मौहल्ला जती पहाड़ी सराय नगीना को गिरफ्तार कर लिया। उनका चौथा साथी मोहित उर्फ हलवा फरार होने में कामयाब रहा। पुलिस ने गिरफ्तार बदमाशें के पास से तीन देशी पिस्टल, 12 जिंदा कारतूस, तीन खोख्े, एक लैपटॉप, एक मोबाइल, चालीस हजार रूपये व चार बाइकें तथा एक बाइक के पार्ट्स बरामद कियें पूछताछ करने पर बदमाशों ने स्वीकार किया कि आदित्य के खिलाफ गवाही देने वाले राकेश को अक्षय, सोनू, प्रदीप, पियूष व राहुल ने गोली मारकर मौत के घाट उतारा था। उन हत्यारोपियों में से प्रदीप, पियूष व राहुल को पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर चुकी थी। इन्होंने नहटौर से बाइक चोरी, नहटौर क्षेत्र से ही दो लाख रूपये व लैपटॉप लूट, हरिद्वार से बाइक लूट, नींदडू के पास से बाइक व मोबाइल लूट व किरतपुर क्षेत्र से गोली मारकर बाइक लूटने की घटना को अंजाम देने की बात स्वीकार की। बदमाशों ने बताया कि उनके गैंग का सरगना आदित्य है उसी के कहने पर व अपराधिक वारदातों को अंजाम देकर धन एकत्र करते हें और इन रूपयों का एक बड़ा हिस्सा आदित्य की पैरवी व परिवार पर खर्च करते हैं। इन बदमाशें ने क्षेत्र व जनपद के प्रमुख चिन्हित व्यक्तियों को लूटने, अपहरण करने व मारने की वारदात को अंजाम देने की योजना तैयार होने का खुलासा किया। इन्होंने दावा किया कि अगर वे पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ते तो एक एक कर इन वारदातों को भी अंजाम देते। पकड़े गये बदमाशों के खिलाफ विभिन्न थानों में कई मुकदमे दर्ज है। बदमाशों को गिरफ्तार करने वालों में स्वॉट प्रभारी सतेन्द्र भड़ाना, सर्विलांस प्रभारी संजय कुमार, एसआई सनोज प्रताप सिंह, हिमांशु चौहान व राजीव किरतपुर थाना प्रभारी निरीक्षक दुर्गेश कुमार मिश्रा, एसआई सतेन्द्र, विजेन्द्र कुमार आदि शामिल रहे।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x