कोरोनावायरस / हरियाणा में 31 मार्च तक 7 जिलों में लॉक डाउन

Coronavirus के खिलाफ जंग के लिए आहूत Janta Curfew को लोगों का व्यापक समर्थन मिल रहा है। पंजाब के बाद हरियाणा सरकार ने भी सात जिलों में 31 मार्च तक लॉकडाउन घोषित कर दिया है। कोरोना नाम का यह वायरस एक दूसरे के संपर्क में आने से फैलता है। इसलिए सोशल डिस्टेंस (सामाजिक दूरी) बनाए रखने की मंशा से हरियाणा सरकार ने उन सात जिलों में लाकडाउन घोषित किया है, जहां कोरोना के अधिक मामले पाए गए हैं। इनमें राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से सटे गुरुग्राम, फरीदाबाद, सोनीपत, पानीपत, झज्जर, रोहतक और चंडीगढ़ से सटा पंचकूला जिला शामिल है।

लॉकडाउन कि गए जनपद

  • गुरुग्राम
  • फरीदाबाद
  • रोहतक
  • झज्जर
  • सोनीपत
  • पानीपत
  • पंचकूला

 

शाम 6 बजे जनता को संबोधित करते हुए सीएम मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि रविवार को जिस तरह का संयम लोगों ने बनाकर रखा है, इसे आगे भी बनाकर रखने की जरुरत है ताकि कोरोना के संकट से बचा जा सके। रात 9 बजे के बाद भी जनता कर्फ्यू को बनाकर रखे और सुबह 7 बजे तक घरों में रहे ताकि 24 घंटे तक इस कोरोनावायरस के चक्र को काटा जा सके।

सीएम ने कहा कि लॉक डाउन के दौरान आवश्यक चीजों की दुकानें खुली रहेंगी। स्वास्थ्य, मेडिकल, पानी, करियाना, सब्जी व दूध पर कोई पाबंदी नहीं होगी। सीएम ने किसानों की फसल को भी आवश्यक उत्पाद में रखा है। उन्होंने कहा कि किसानों की फसल पकी हुई खेतों में खड़ी है, उन्हें भी आवश्यक सेवाओं में रखा जाएगा।

पंजाब और चंडीगढ़ में घोषित किया गया लॉक डाउन
पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह ने कोरोनावायरस के चलते 31 मार्च तक पूरा राज्य लॉक डाउन कर दिया है। वहीं चंडीगढ़ में भी लॉकडाउन का ऐलान कर दिया गया है। दोनों जगह 22 मार्च को जनता कर्फ्यू भी पूरी तरह सफल रहा है।

भारतीय रेलवे ने सभी यात्री रेलगाड़ियों को किया बंद
भारतीय रेलवे ने सभी रेलगाड़ियों को 31 मार्च तक बंद करने का आदेश दे दिया है। देश में पहली बार लगातार 9 दिन तक कोई यात्री ट्रेन नहीं चलेगी। रेलवे बोर्ड ने रविवार को यह फैसला लिया। रेलवे के मुताबिक, 22 मार्च आधी रात से 31 मार्च की आधी रात तक सिर्फ मालगाड़ियां ही चलेंगी। रेलवे 12500 यात्री ट्रेनें चलाता है, जिसमें हर दिन औसतन 2.3 करोड़ लोग सफर करते हैं। रेलवे 9000 पैसेंजर ट्रेनें और 3500 मेल-एक्सप्रेस हर दिन चलाता है।

हरियाणा में प्राइवेट व सरकारी स्कूल किए गए बंद
हरियाणा सरकार ने सभी प्राइवेट व सरकारी स्कूल को 31 मार्च तक बंद कर दिया है। इसके साथ-साथ 50 वर्ष से ज्यादा उम्र के सरकारी कर्मचारियों को वर्क फरोम होम की सुविधा दी गई है।

कोरोना से निपटने को दो कंट्रोल रूम स्थापित
प्रदेश सरकार ने कोरोना से निपटने को बेहद गंभीर है। इसी के तहत वरिष्ठ आईएएस अधिकारी की निगरानी में कंट्रोल रूम की स्थापना की गई है। इससे सात जिलों में समन्वय के लिए स्थापित किया गया है। छह आईएएस की ड्यूटी लगाई गई है।

हरियाणा सरकार देर-सबेर बाकी जिलों में भी लाकडाउन का ऐलान कर सकती है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने रविवार की शाम को छह बजे राज्य के लोगों से रूबरू होते हुए इन सातों जिलों में लाकडाउन का ऐलान किया और साथ ही कहा कि इन जिलों में आवश्यक सेवाओं में कोई कमी नहीं आने दी जाएगी, लेकिन 31 मार्च तक सभी सातों जिलों में लाकडाउन रहेगा। यानी लोग सामाजिक दूरी बनाकर रखेंगे और एक दूसरे के संपर्क में नहीं आएंगे।

हरियाणा के बाकी जिलों में हालांकि लाकडाउन घोषित नहीं किया गया है, लेकिन मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने आह्वान किया है कि लोग एक दूसरे से सामाजिक दूरी बनाकर रखें। इस दौरान जिन सात जिलों में लाकडाउन घोषित किया गया है, उनमें ३१ मार्च तक सभी सरकारी व प्राइवेट संस्थान बंद रहेंगे तथा प्राइवेट कंपनियां वर्क फरोम होम (घर से काम) की पद्धति का अनुसरण करेंगी।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x