धरती का श्राप : एक गांव जहां धूप बनी है यमराज-

 

यहां सूर्य का प्रकाश ही यमराज 

 

कहते हैं कि सूर्य का प्रकाश इंसान के लिए बहुत फायदेमंद होता है। यह कई सारी बीमारियों से बचाव करता है, लेकिन ब्राजील के साओ पाउलो में एक ऐसा गांव है, जहां  धूप किसी यमराज से कम नहीं हैं। लोगों के चेहरे और उनका शरीर गला देती हैं। यहां के लोग दिन के बजाए कहीं भी रात में निकलना पसंद करते हैं। 

 

इस धरती का श्राप है अरारस गांव।

यहां के ज्यादातर लोग किसान हैं। ऐसे में वो धूप में काम करने से बच नहीं सकते। कुछ लोगों के पास तो धूप में काम करने के सिवा और कोई चारा भी नहीं है। धूप में निकलने की वजह से सूरज की किरणें उनको झुलसा देती हैं। इसके चलते उनकी त्वचा लाल और रूखी पड़ जाती है और चेहरा भद्दा दिखने लगता है। 

दरअसल, यहां के लोग एक बहुत ही अजीबोगरीब और लाइलाज बीमारी से पीड़ित हैं, जिसका नाम है जेरोडर्मा पिगमेंटोसम। इस बीमारी में धूप के कारण त्वचा गल जाती है।इस दौरान उनकी 50 से ज्यादा सर्जरी हो चुकी है। अब वो अपने चेहरे को धूप से बचाने के लिए ओरेंज मास्क और टोपी पहनते हैं, जिससे उन्हें बीमारी को काबू में करने में थोड़ी मदद मिल रही है।

इस भयानक बीमारी के चलते यहां लोगों की जिंदगी नर्क हो गई है।

विज्ञान की माने तो यह बीमारी लाखों में किसी एक को ही होती है, लेकिन इस गांव की एक बड़ी आबादी इस बीमारी से पीड़ित है। अरारस गांव में करीब 800 लोग रहते हैं, जिसमें से करीब 600 लोगों को यह बीमारी है।  

इस बीमारी के पीछे की सबसे बड़ी वजह यहां आनुवांशिकता बताई जाती है। हालांकि कुछ लोगों का मानना है कि यह एक यौन संबंधी रोग है, जबकि कुछ लोग मानते हैं कि यह भगवान की ओर से दिया गया एक दंड है, जिसे यहां के लोग भुगत रहे हैं। 

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x