चक्रवाती तूफान ‘फानी’ की निगेहबानी-

CYCLONE FANI: WARNING FOR FISHERMEN IN SRI LANKA AS STORM MOVES CLOSER AND BECOMES MORE POWERFUL

 

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी स्थिति की निगरानी कर रहे हैं, तैयारी की समीक्षा के लिए एनसीएमसी की बैठक बुलाने के लिए कैबिनेट सचिव को आदेश दिया

चक्रवाती तूफान ‘फानी’ सोमवार सुबह चेन्नई से 880 किलोमीटर दूर दक्षिण पूर्व में स्थित था। 30 अप्रैल तक इसके शक्तिशाली चक्रवाती तूफान में बदलने की संभावना है। तूफान का उत्तर-पश्चिम दिशा में बढ़ना जारी रहेगा और एक मई से यह उत्तर-पूर्व की ओर बढ़ेगा।

भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) के अनुसार तमिलनाडु और आंध्रप्रदेश में लैंडफॉल होने की संभावना नहीं है। हालांकि ओडिशा में लैंडफॉल होंने की संभावना पर लगातार निगरानी की जा रही है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी स्थिति की गंभीरता से निगरानी कर रहे हैं। उन्होंने स्थिति का जायजा लेने के लिए राज्य सरकारों और संबंधित केन्द्रीय मंत्रालयों/एजेंसियों के साथ राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन समिति (एनसीएमसी) की बैठक बुलाने हेतु कैबिनेट सचिव को आदेश दिया है ताकि किसी भी स्थिति से निपटने के लिए सभी तैयारियां सुनिश्चित की जा सकें।

एनडीआरएफ और भारतीय तटरक्षक बल को हाई अलर्ट पर रखा गया है और इन्हें राज्य सरकारों से निरन्तर संपर्क में रहने के लिए कहा गया है।

 

25 अप्रैल से मछुआरों के लिए निरंतर चेतावनी जारी की जा रही है। मछुआरों को समुद्र में न जाने की सलाह दी गई है तथा समुद्र में निकले मछुआरों को वापस आने की सलाह दी गई है। आईएमडी संबंधित राज्यों के लिए नवीनतम पूर्वानुमान के साथ प्रत्येक तीन घंटे में बुलेटिन जारी कर रहा है। गृह मंत्रालय संबंधित राज्य सरकारों तथा केन्द्रीय एजेंसियों से निरंतर संपर्क में है।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x