चक्रवाती तूफान ‘तितली’ की पश्चिम-उत्तर पश्चिम में दस्तक –

बंगाल की खाड़ी के पश्चिम-मध्‍य में कल दस्‍तक देने के बाद चक्रवाती तूफान ‘तितली’ पश्चिम-उत्तर पश्चिम की ओर दस्तक दे सकता है और आज 10 अक्‍टूबर, 2018 को इसने तड़के प्रचंड रूप धारण कर लिया तथा दोपहर में यह और भी ज्‍यादा विकराल हो गया।

अत्‍यंत प्रचंड चक्रवाती तूफान ‘तितली’ पर तटीय डॉप्लर मौसम रडार के जरिए करीबी नजर रखी जा रही है जो विशाखापत्तनम, गोपालपुर और पारादीप में लगाए गए हैं। नवीनतम अवलोकनों से यह संकेत मिला है कि बंगाल की खाड़ी के पश्चिम-मध्‍य में कल दस्‍तक देने के बाद आज 10 अक्‍टूबर, 2018 को प्रचंड चक्रवाती तूफान ‘तितली’ लगभग 15 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से उत्तर-पश्चिम की ओर आगे बढ़ गया, फिर इसने अत्‍यंत प्रचंड रूप धारण कर लिया।

इसके बाद प्रात: साढ़े ग्‍यारह बजे अक्षांश 16.8 डिग्री उत्‍तर और देशांतर 85.6 डिग्री पूर्व के निकट अवस्थित बंगाल की खाड़ी के पश्चिम-मध्‍य में गोपालपुर (ओडिशा) से लगभग 280 किलोमीटर दूर दक्षिण-दक्षिण पूर्व में और कलिंगपतनम (आंध्र प्रदेश) से 230 किलोमीटर दूर दक्षिण-पूर्व में केंद्रित हो गया।

ऐसी आशंका जताई जा रही है कि अगले 12 घंटों के दौरान चक्रवाती तूफान ‘तितली’ और भी ज्‍यादा विकराल रूप धारण कर सकता है। चक्रवाती तूफान ‘तितली’ के उत्‍तर-उत्‍तर पश्चिम की ओर अग्रसर होने और 11 अक्‍टूबर को प्रात: गोपालपुर एवं कलिंगपतनम के बीच ओडिशा एवं निकटवर्ती आंध्र प्रदेश के उत्‍तरी तटों को पार कर जाने की संभावना है।

इसके बाद चक्रवाती तूफान ‘तितली’ के फिर से उत्‍तर-पश्चिम की ओर अग्रसर हो जाने और फिर ओडिशा के पार पश्चिम बंगाल में गंगा नदी के तटवर्ती क्षेत्रों की तरफ चले जाने तथा इसके बाद धीरे-धीरे कमजोर पड़ जाने की संभावना है।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x