राफेल डील के खिलाफ़ ”आप” का चंदौली प्रदर्शन –

मांग पत्र जिलाधिकारी को सौंपा

आम आदमी पार्टी चंदौली के कार्यकर्ताओं ने मंगलवाल राफेल घोटाले के विरोध में कचहरी चंदौली के सामने विरोध प्रदर्शन किया व जूलूस निकाला। जुलूस चंदौली कचहरी से होते हुए जिलाधिकारी कार्यालय पहुँचकर जिलाधिकारी को महामहिम राष्ट्रपति महोदय के नाम संशोधित ज्ञापन सौंपा । 

जिसके बाद मिडिया को संबोधिति करते हुए जिला मिडिया प्रभारी संतोष कुमार पाठक व एडवोकेट  ने कहा कि रक्षा क्षेत्र में राफेल घोटाला इतिहास का सबसे बड़ा घोटाला जनता के सामने आया है । 

केंद्र सरकार ने 126 राफेल की डील को अचानक रद्द कर मात्र 36 राफेल की डील नए सिरे से की जबकि वायुसेना ने 126 राफेल की ही मांग की थी । 126 राफेल में से 108 राफेल भारत की लड़ाकू विमान बनाने का अनुभव रखने वाली कंपनी हिन्दुस्तान एरोनोटिक्स लिमिटेड (HAL) में बनने थे जिससे भारत के लोगों को रोजगार मिलता और भारत की अर्थव्यवस्था मजबूत होती। हिन्दुस्तान एरोनोटिक्स लिमिटेड (HAL) ने सुखोई-30 जैसे लड़ाकू विमान बनाये हैं, इस कंपनी के पास 70 साल से विमान बनाने का अनभुव है।

 इसके बाबजूद केंद्र सरकार ने पुरानी प्रक्रिया को निरस्त कर 36 राफेल का टेंडर, विमान बनाने में अनुभवहीन उधोगपति अनिल अंबानी की कंपनी को दे दिया । पता हो कि कि पूर्व की डील में एक राफेल की कीमत 540 करोड़ थी, केंद्र सरकार ने उसी राफेल को नई सिरे से 1670 करोड़ में खरीदने की डील कर ली ।राफेल के मामले में फ़्रांस के पूर्व राष्ट्रपति ओलांद के बयान आ जाने से राफेल में हुए बहुत बड़े घोटाले को बल मिलता है ।

आम आदमी पार्टी ” आप” इन प्रश्नों का जबाब चाहती है – 

1. 540 करोड़ का एक राफेल 1670 करोड़ का क्यों खरीदा ?

2. राफेल का टेंडर, लड़ाकू विमान बनाने का अनुभव रखने वाली कंपनी हिन्दुस्तान एरोनोटिक्स लिमिटेड (HAL) के बजाय अनिल अंबानी की अनुभवहीन कंपनी को क्यों दिया गया ?

 

3. वायु सेना की 126 राफेल की मांग के बाबजूद मात्र 36 राफेल की क्यों डील की गई ?

       जैसा कि देश की जनता में चर्चा है कि मोदी सरकार ने 126 राफेल की पूर्व डील को इसलिये खत्म किया कि अनिल अंबानी की कंपनी को इस डील में नए सिरे से शामिल किया जा सके और शामिल किया जा सके और उनको बड़े स्तर पर अनुचित लाभ दिया जा सके ।

उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी, मांग करती है कि उपरोक्त सवालों का केंद्र सरकार से लिखित में जबाव दिलाया जाये और राफेल में बड़े स्तर पर हुए भ्रष्टाचार की जांच कराई जाए जिससे देश की सुरक्षा से समझौता करने वाले गद्दारों को सजा दिलाई जा सके।

इस अवसर पर जिलाध्यक्ष कला प्रसाद सोनकर, प्रवीण चौबे, जमुना सिंह, डा. दयाराम, राजकुमार यादव, शिव पूजन यादव, प्रभाकर वर्धन, राज कुमार गौतम, सुलेमान, अजय पासवान आदि उपस्थित थे ।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x