देवेंद्र फडणवीस बने महाराष्ट्र विधानसभा में विपक्ष के नेता, सत्तापक्ष ने तालियों से किया स्वागत

मुम्बई ।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता व पूर्व मुख्यमंत्री और 49 साल के भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस रविवार को महाराष्ट्र विधानसभा में निर्विरोध विपक्ष के नेता चुने गए। फडणवीस ने बहुमत न होने के कारण दो-चार दिन पहले ही महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिया था। उनसे पहले कांग्रेस नेता नाना एफ पटोले को विधानसभा अध्यक्ष के पद पर चुना गया।

मुख्यमंत्री उद्धव समेत दिग्गज नेताओं ने दी बधाई

नाना एफ. पटोले ने जैसे ही विपक्ष के नेता के रूप में फड़णनवीस के नाम की घोषणा की, सत्ता पक्ष और विपक्ष दोनों के विधायकों ने तालियों से उनका स्वागत किया। इसके बाद मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, जयंत पाटिल, एकनाथ शिंदे, बालासाहेब थोरात समेत कई नेताओं ने फडणवीस को बधाई दी और इस पद के लिए उनके चुनाव का स्वागत किया।

2014 में बने थे मुख्यमंत्री

फडणवीस अक्टूबर 2014 में पहली बार भाजपा-शिवसेना सरकार में राज्य के मुख्यमंत्री बने थे। इसके बाद उन्होंने नवंबर 2019 में भी मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। उनके साथ राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के वरिष्ठ नेता अजीत पवार ने उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी।

लेकिन अपने दूसरे कार्यकाल में वह मुश्किल से 80 घंटे ही मुख्यमंत्री रह सके और बहुमत न होने के कारण उन्हें इस्तीफा देना पड़ा। इसके बाद राज्य में उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में शिवसेना-राकांपा-कांग्रेस के गठबंधन महा विकास अघाड़ी की सरकार बनी।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सदस्य फडणवीस नागपुर के रहने वाले हैं। वह 1997-2002 तक नागपुर नगर निगम के मेयर रह चुके हैं। इसके अलावा महाराष्ट्र में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष भी रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *