डॉ सौरभ ने एक टी0बी0 मरीज बच्चे को लिया गोद

 

महानता कि अगर कोई परिभाषा पूछ ले तो हम लोग सोच में पड़ जायेगें लाज़िमी है कि महानता तो कर्मों में परिलक्षित होने का नाम है जिसे सिद्ध कर दिखाया है सौहार्दशिरोमणि गुरुदेव महामनीषी श्री सौरभ पाण्डेय जी ने – 

टी . बी के को समाप्त के सहयोग हेतु देश की समस्त संस्थाएं आयें आगे- सौहार्दशिरोमणि डॉ सौरभ पांडेय गोरखपुर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2025 तक भारत को टीबी मुक्त बनाने का लक्ष्य रखा था और इसी को ध्यान में रखते हुए धराधाम इंटरनेशनल प्रमुख सौहार्दशिरोमणि डॉ सौरभ पाण्डेय ने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र कौड़ीराम से एक टीबी पीड़ित बच्चे को गोद लिया है।

उसके स्वस्थ करने का जिम्मा उठाया है। डॉ सौरभ के इस कदम से उस अंधविश्वास के खात्मे में बल मिलेगा कि टीबी रोगी अछूत होते हैं। टीबी का रोग कोई लाइलाज बीमारी भी नहीं है।उन्होंने बच्चे के स्वस्थ्य होने तक खुद ही निगरानी करने का निर्णय लिया है।

उन्होंने कहा कि प्रभारी चिकित्सा अधिकारी कौड़ीराम डॉ संतोष वर्मा, विनय श्रीवास्तव वर्ल्ड रेकॉर्ड होल्डर एवम एस0 टी0 एस0 विनोद कुमार के प्रेरणा से हमने एक बच्चे को गोंद लिया है।उन्होंने कहा कि भारत वर्ष से क्षय रोग के पूर्ण रुप से समाप्ति के लिए समाजसेवी संस्थाओं एवम गणमान्यों को आगे आना चाहिए।

डॉ सौरभ ने कहा कि वह गोद लिए बच्चे को सरकार द्वारा चलाई जा रही सभी जनहितकारी योजनाओ को पात्रों तक पहुचाने के लिए प्रचार प्रसार करेंगे।इस दौरान धराधाम इंटरनेशनल के सी ई ओ डॉ प्रेम प्रकाश पाण्डेय,रत्नाकर तिवारी,सोमनाथ पाण्डेय ,डॉ सतीश चंद्र शुक्ला,गौतम पाण्डेय, रागिनी पाण्डेय,अभिषेक राय ,गुरु एवम तेज उपस्थित थे।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x