मोअल्लिम और टीईटी की डिग्री सत्यापन में मिली फर्जी

सच की दस्तक डेस्क जौनपुर संजय कुमार दुबे

 

जौनपुर। जिले के बेसिक शिक्षा अधिकारी डा. राजेंद्र सिंह ने गुरुवार को परिषदीय स्कूलों में तैनात सात अध्यापकों को नौकरी से बर्खास्त कर दिया। इन सभी अभ्यर्थियों ने मोअल्लिम और टीईटी की फर्जी अंक पत्र के सहारे वर्ष 2016 में प्राथमिक विद्यालयों में सहायक अध्यापक के रूप में नौकरी प्राप्त कर ली थी। इन सभी फर्जी शिक्षकों ने जामियां उर्दू विश्वविद्यालय अलीगढ़ से मोअल्लिम और टीईटी (शिक्षक पात्रता परीक्षा) का फर्जी अंक पत्र बनवाया था। शासन के विशेष निर्देश पर प्रदेश स्तर पर गठित स्पेशल टास्क फोर्स टीम वर्ष 2016 में उर्दू शिक्षकों के रूप में तैनात डिग्रीधारियों के प्रमाण पत्रों का सत्यापन कराया जा रहा है। फर्जी शिक्षकों में तीन शिक्षक सुइथाकला ब्लाक में तैनात थे जबकि एक शिक्षक शाहगंज ब्लाक के जमदहां उर्दू प्राथमिक विद्यालय में तैनात रहा है।

47 विद्यालयों पर अचानक हुई चेकिंग, तीन शिक्षक निलंबित, कई का रोका गया वेतन

फर्जी प्रमाण पत्रों के आरोप में जिन सहायक अध्यापकों को नौकरी से बर्खास्त किया गया है उनमें सुइथाकला ब्लाक के उर्दू प्राथमिक विद्यालय पूरा असालत खां में तैनात नरसिंह यादव पुत्र शिवमूर्ति यादव, उर्दू प्राथमिक विद्यालय जमदरां में तैनात राजाराम सिंह पुत्र रामजीत सिंह, वाल्मीकपुर में तैनात सदावृज यादव पुत्र इंद्रदेव यादव और शाहगंज ब्लाक के उर्दू प्राथमिक विद्यालय जमदहां में तैनात रामप्यारे यादव पुत्र फेरु यादव शामिल हैं। मुफ्तीगंज ब्लाक के उर्दू प्राथमिक विद्यालय मुर्की में तैनात राजबहादुर यादव पुत्र श्री नारायण यादव, रामपुर के पृथ्वीपुर में तैनात राकेश चन्द्र यादव पुुत्र कुंज बिहारी यादव, महराजगंज ब्लाक के उर्दू उर्दू प्राथमिक विद्यालय लोकापुर में तैनात सिम्मी सिंह पुत्री अर्जुन कुमार सिंह का नाम शामिल है।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x