Egg Paneer: अंडे से बनेगा पनीर, वैज्ञानिक का दावा नौ महीनों तक नहीं होगा खराब-

दिल्ली से सटे नोएडा में स्थित एमिटी विश्वविद्यालय (Amity University) के वैज्ञानिक प्रोफेसर वीके मोदी ने ऐसा पनीर बनाने में सफलता प्राप्त की है, जो नौ महीने तक खराब नहीं होगा इस पनीर को अंडे से बनाया गया है और इसमें सभी तरह के पोषक तत्व मौजूद हैं। इसको बगैर फ्रिज के भी स्टोर किया जा सकता है। इसका नाम सेल्फ स्टेबल पनीर रखा गया है।

इस पनीर की तकनीक को औद्योगिक उत्पादन के लिए ट्रांसफर किया जा चुका है। जल्द ही यह बाजार में उपलब्ध होगा। एमिटी इंस्टीट्यूट ऑफ फूड टेक्नोलॉजी में हेड ऑफ इंस्टीट्यूशन प्रोफेसर वीके मोदी के मुताबिक आजकल के खाद्य पदार्थों में पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्व नहीं मिल पाते हैं और जिन वस्तुओं में होते भी हैं तो वे जल्द खराब हो जाते हैं। दाल, दूध और अंडे में पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्व पाए जाते हैं। ऐसे में सोचा कि अंडे से कुछ ऐसी चीज बनाई जाए जो जल्द खराब न हो। प्रोफेसर मोदी ने कहा कि इसको बनाने में दो साल लगे हैं।

तीन तरह का होगा पनीर

पनीर को तीन तरह से तैयार किया जाता है। वजन कम करने वाले लोगों के लिए अंडे के सफेद हिस्से से पनीर बनाया जाता है। बच्चों के लिए अंडे के पीले हिस्से से बनाया जाता है। वहीं, सामान्य खानपान वालों के लिए यह पूरे अंडे से तैयार होता है। अभी 100 किलोग्राम पनीर बनने में एक दिन का समय लगता है। वहीं, अधिक उत्पादन होने पर इसे बनाने में कम समय लगेगा।

होता है सस्ता दूध से बने पनीर से

बाजार में उपलब्ध दूध से बने पनीर की कीमत करीब 260 रुपये प्रति किलोग्राम के आसपास होती है। सेल्फ स्टेबल एग पनीर बाजार में 200 रुपये प्रति किलोग्राम में आसानी से मिल जाएगा। वहीं, औद्योगिक उत्पादन होने पर यह और भी सस्ता मिलने की संभावना है।

स्वाद में है बेहतर

इसमें किसी भी तरह का रासायनिक पदार्थ नहीं मिलाया गया है। इसे केवल अंडे और फूड वाइंडर्स से तैयार किया गया है। इसमें प्राकृतिक पनीर में पाए जाने वाले सभी तरह के पोषक तत्व हैं। इसके साथ ही अंडे से बने होने के कारण यह शरीर के लिए ज्यादा फायदेमंद है।

बच्चों के मिड डे मिल में किया जा सकता है इस्तेमाल

प्रोफेसर वीके मोदी ने बताया कि आमतौर पर पनीर में पाचन की समस्या आती है। इस पनीर में ऐसा कुछ नहीं है। इसमें प्रचुर मात्रा में पोषक तत्व होने के कारण मिड डे मील के तौर पर भी इस्तेमाल किया जा सकता है। इससे सब्जी, सूप, पराठे आदि तैयार किए जा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *