सीबीआई के पूर्व अंतरिम निदेशक एम नागेश्‍वर राव ने सुप्रीम कोर्ट से बिना शर्त माफी मांगी-

नई दिल्ली।

 सीबीआइ के अतिरिक्त निदेशक एवं पूर्व अंतरिम निदेशक एम. नागेश्वर राव ने सुप्रीम कोर्ट से बिना शर्त माफी मांगी है। राव ने कहा है कि उन्हें अपनी गलती का अहसास है और उनकी मंशा कोर्ट की अवहेलना करने की कतई नहीं थी।

वह इसके बारे में सोच भी नहीं सकते। वह कोर्ट से बिना शर्त माफी मांगते हैं। उन्हें माफ कर दिया जाए। नागेश्वर राव के अलावा दूसरे अधिकारी एस भासुरन ने भी बिना शर्त माफी मांगी है। दोनों ही अधिकारियों को सुप्रीम कोर्ट ने न्यायालय की अवमानना में 12 फरवरी को तलब किया है। मामले में मंगलवार को सुनवाई होगी।

कोर्ट ने गत सात फरवरी को रोक आदेश के बावजूद मुजफ्फरपुर संरक्षण गृह मामले की जांच कर रहे अधिकारी एके शर्मा का सीबीआइ के बाहर तबादला करने पर इन दोनों अधिकारियों को प्रथम दृष्टया अवमानना का जिम्मेदार माना था। दोनों को 12 फरवरी को कोर्ट मे तलब किया है। इन दोनों अधिकारियों के अलावा कोर्ट ने सीबीआइ निदेशक से उन सभी बाकी अधिकारियों के भी नाम पूछे हैं जो एके शर्मा की तबादला प्रक्रिया में शामिल थे, साथ ही उन सब अधिकारियों को भी 12 फरवरी को कोर्ट में पेश होने का आदेश दिया था।

नागेश्वर राव ने आइपीएस अधिकारी के तौर पर बेदाग सर्विस रिकार्ड का हवाला देते हुए कहा है कि उन्होंने जानबूझकर कोर्ट के आदेश की अवहेलना नहीं की है। वह ऐसा करने की सपने में भी नहीं सोच सकते। राव ने कहा है कि उन्हें सुप्रीम कोर्ट के गत वर्ष 31 अक्टूबर और 28 नवंबर के आदेश को देखते हुए एके शर्मा को प्रोन्नत करने के लिए सीबीआइ से रिलीव करने की कानूनी राय कोर्ट से अनुमति लिए बगैर नहीं स्वीकार करनी चाहिए थी। राव ने कहा है कि मैं अपनी गलती स्वीकार करता हूं और कोर्ट से बिना शर्त माफी मांगता हूं।

राव के अलावा अभियोजन निदेशक का काम देख रहे अतिरिक्त कानूनी सलाहकार ने भी कोर्ट से बिना शर्त माफी मांगी है। मालूम हो कि सुप्रीम कोर्ट ने गत वर्ष संरक्षण गृह यौन उत्पीड़न मामले की जांच कर रहे अधिकारी एके शर्मा का तबादला न किए जाने के आदेश दिए थे। इसके बावजूद इसी वर्ष जनवरी में जब नागेश्वर राव सीबीआइ के अंतरिम निदेशक थे एके शर्मा का तबादला सीबीआइ से सीआरपीएफ के अतिरिक्त डीजी पद पर कर दिया गया था। इस बात की जानकारी जब गत सात फरवरी को कोर्ट को हुई तो कोर्ट नाराज हो गया और उसने अधिकारियों को तलब कर लिया था।

 

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x