दश्वमेवघाट पर एक नाव गंगा में समायी –


दशाश्वमेघ घाट पर होने वाली पवित्र गंगा आरती के दौरान उस समय हडकंप मच गया जब एक खाली नाव देखते ही देखते गंगाजी में समा गई।यह संयोग ही था कि उस नाव में कोई दर्शनार्थी सवार नहीं था ,नहीं तो किसी अनहोनी से इंकार नहीं किया जा सकता था।

काशी आने वाला हर पर्यटक और दर्शनार्थी दशाश्वमेघ घाट पर प्रतिदिन शाम को होने वाली गंगा आरती घाट की सीढ़ियों के अलावा नावों पर सवार होकर बड़ी संख्या में आरती देखते हैं।आरती के दौरान स्थानीय प्रशासन की ओर से सुरक्षा की सुव्यवस्थित व्यवस्था भी की गई है। लेकिन पता नहीं क्यों आरती के दौरान गंगा जी में क्षमता से अधिक लोगों को नावों पर बैठाकर नाविकों द्वारा सुरक्षा को कमजोर बताकर आरती बद्दस्तूर जारी है।

यह किसी बड़ी घटना को दावत भी दे रहा है। मिली जानकारी के अनुसार शनिवार की शाम जब गंगाआरती हो रही थी।उसी दौरान एक खाली नाव में अचानक पानी भरने लगा और वह देखते ही देखते गंगा में समा गई।

नाव को डूबता देख दूसरे नावों पर सवार होकर गंगा आरती देख रहे लोगों में हड़कंप मच गया।घाट पर मौजूद नाविक और एनडीआरएफ की टीम ने तत्परता दिखाते हुये तत्काल डूबी हुई नाव के आसपास गोता लगाकर देखने लगें कि कोई नाव हादसे का शिकार तो नहीं हुआ। हालाकि इस दौरान गंगा में कोई व्यक्ति नहीं मिला।

इस नाव हादसे में भले ही किसी तरह का कोई नुकसान न हुआ हो, लेकिन यह प्रशासन के लिए चेतावनी भी है। यदि समय रहते प्रशासन ने इस पर अंकुश नहीं लगाया तो किसी बड़े हादसे से इंकार नहीं किया जा सकता है।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x