उत्तराखंड के चमौली में ग्लेशियर टूटने से तबाही, प्रदेश में हाई अलर्ट जारी किया गया

उत्तराखंड के चमौली में रविवार को ग्लेशियर टूटने की खबरें आ रही है। ये हादसा चमोली के रैणी गांव के पास हुआ। ग्लेशियर टूटने से उत्तराखंड में भारी तबाही का अनुमान लगाया जा रहा है। 

 

ग्लेशियर का प्रभाव काफी प्रकोप है वह लगातार तेजी से बह रहा है। प्रसाशन की टीम सुरक्षा कार्यों के लिए रवाना हो गयी है। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने हालात पर कहा है कि वह हर प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने ट्वीट किया और लिखा- चमोली ज़िले से एक आपदा का समाचार मिला है। ज़िला प्रशासन, पुलिस विभाग और आपदा प्रबंधन को इस आपदा से निपटने की आदेश दे दिए हैं। किसी भी प्रकार की अफ़वाहों पर ध्यान ना दें । सरकार सभी ज़रूरी कदम उठा रही है।

ये एक बहुत बड़ी तबाही साबित हो सकती है क्योंकि ग्लेशियर काफी बड़ा है। इस तबाही के कारण ऋषि गंगा प्रोजेक्ट को भी बहुत ज्यादा नुकसान हुआ है। अनुमान ये लगाया जा रहा है ये तबाही 2013 में आयी तबाही की तरह ही है। पूरे प्रदेश को हाई अलर्ट पर कर लिया है। एनडीआरएफ की लोगों की सुरक्षा के लिए लोगों तक पहुंच रही है।

प्रतीकात्मक तस्वीर –

अभी ताजा खबरों के अनुसार जिस जगह ग्लेशियर टूटा वहा पर कई गांव  इसके अलावा पास में ही सरकार का ऋषि गंगा प्रोजेक्ट चल रहा था किसमें सेकडों लोग काम कर रहे थे। कई मजदूरों के बहने की खबरें भी आ रही है। सरकार के इस प्रोजक्ट को काफी ज्यादा नुकसान हुआ है। जैसे -जैसे ये ग्लेशियर आगे बढ़ रहा है इससे काफी ज्यादा और भी नुकसान होने की खबरें हैं। 

प्रशाशन ने अलर्ट जारी करते हुए कहा है कि नदी के किनारे रहने वाले लोग अपना घरों को खाली कर दे और सुरक्षित जगह लगे जाए क्योंकि ये आपदा कितना नुकसान कर सकती है इसके बारे में अभी पूरी जानकारी नहीं दी जा सकती है।  

 

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x