जबलपुर में गृहमंत्री अमित शाह गरजे – बोले,’शरणार्थी हमारे भाई हैं, नागरिकता देकर ही रहेंगे’

  • सीएए के समर्थन में मध्य प्रदेश के जबलपुर में रैली करने पहुंचे बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह
  • अमित शाह ने कहा-राहुल और ममता बताएं कि सीएए से नागरिकता कैसी जाएगी
  • शाह ने यह भी कहा कि पाकिस्तान से आए शरणार्थी हमारे भाई हैं, नागरिकता देकर रहेंगे
  • गृहमंत्री अमित शाह ने आगे कहा कि कांग्रेस और राहुल बाबा गांधी जी को भूल चुके हैं

केंद्रीय गृह मंत्री और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने मध्यप्रदेश के जबलपुर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए ममता बनर्जी और राहुल गांधी पर जमकर निशाना साधा। अमित शाह ने कहा कि मैं ममता बनर्जी और राहुल बाबा को चुनौती देता हूं कि नागरिकता संशोधन अधिनियम में से एक ऐसे प्रावधान का पता लगाएं जो इस देश में किसी की भी नागरिकता छीन सके।

उन्होंने कहा कि भारत पर जितना अधिकार मेरा और आपका है, उतना ही अधिकार पाकिस्तान से आए हुए हिंदु, सिख, बुद्धिस्ट, क्रिश्चियन शरणार्थियों का है।

‘शरणार्थी हमारे भाई हैं, नागरिकता देकर ही रहेंगे’

अमित शाह ने सीएए के मुद्दे पर पीछे ना हटने की बात पर जोर देते हुए कहा, ‘कांग्रेस वालों कान खोल कर सुन लो, जितना विरोध करना है करो, ये सारे लोगों को नागरिकता देकर ही हम दम लेंगे। भारत पर जितना अधिकार मेरा और आपका है, उतना ही अधिकार पाकिस्तान से आए हुए शारणार्थियों का है। वे भारत के बेटा-बेटी हैं, वे हमारे भाई हैं।’

कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा, ‘जब देश का बंटवारा हुआ और कांग्रेस पार्टी ने देश का बंटवारा धर्म के आधार पर किया। बंटवारे के समय पूर्वी और पश्चिमी पाकिस्तान से हिंदू, सिख, जैन, बौद्ध, पारसी और ईसाई को भारत आना था, मगर उस समय स्थिति सही नहीं होने के कारण वे वहीं रह गए। हमारे देश के सभी नेताओं ने आश्वासन दिया कि आप अभी वहां रह जाइए और आप जब भी कभी भारत आएंगे तो आपका स्वागत किया जाएगा, भारत आपको नागरिकता देगा।’

अमित शाह ने कहा कि भारत पर जितना हक हमारा है, उतना ही पाकिस्तान से आए हिंदू, सिख, बौद्ध और ईसाई शरणार्थियों का भी है।

सीएए के मुद्दे पर कांग्रेस के अलावा तृणमूल कांग्रेस चीफ ममता बनर्जी भी लगातार केंद्र सरकार पर हमलावर हैं। इसी के चलते अमित शाह ने जबलपुर में कहा, ‘मैं राहुल बाबा और ममता बनर्जी को चुनौती देता हूं कि वे सीएए का एक ऐसा प्रावधान बताएं, जिससे किसी की नागरिकता जा रही हो। आज मैं बताने आया हूं कि सीएए में कहीं पर भी किसी की नागरिकता छीनने का प्रावधान नहीं है, इसमें नागरिकता देने का प्रावधान है।’

गृहमंत्री अमित शाह ने आगे कहा, ‘2 जुलाई 1947 को महात्मा गांधी जी ने कहा- जिन लोगों को पाकिस्तान से भगाया गया, जो पाकिस्तान में रह गए हैं, उनको पता होना चाहिए कि वे भारत के नागरिक थें, जब भी भारत में आना चाहते हैं भारत उनको नागरिकता देगा। आज सारे कांग्रेसी पूरे देश में सीएए का विरोध कर रहे हैं। जो गांधी जी ने कहा था, राहुल बाबा आप गांधीजी की भी नहीं सुनोगे। महात्मा गांधी जी को तो कब का आपने छोड़ दिया है।’

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x