गंगा पुत्र की मौत की सीबीआई जांच हो-शिव सेना

वाराणसी से विकास गौड़ की रिपोर्ट

स्वामी ज्ञानस्वरूप सानंद के मौत का मुद्दा अब धीरे-धीरे राजनैतिक रूप लेता जा रहा हैं । स्वामी सानंद के मौत के बाद उनके गुरु अविमुक्तेश्वरा नंद ने उनकी मौत को हत्या बताते हुए सीबीआई जांच की मांग की थी ।इसी क्रम में अब शिवसेना की वाराणसी इकाई ने अब पोस्टर जारी कर सीबीआई जांच की मांग की है

स्वामी ज्ञानस्वरूप सानंद की बीते 11 अक्टूबर को निधन के बाद गंगा भक्तों के साथ हिंदू जनमानस में केंद्र सरकार के प्रति गहरा रोष है। सानंद के साथ हुए इस हादसे के बाद तरह-तरह के कयास भी लगाए जा रहे हैं। सोशल मीडिया पर तो कई संगठनों ने सत्ता, सरकार और ब्यूरोक्रेसी को ही सानंद जी के मौत का जिम्मेदार ठहरा दिया है।

ईसी क्रम में प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र में शिवसेना ने भी मोर्चा खोल दिया। पार्टी के नेता अरुण पाठक ने अलग ही तरीके से अपना विरोध दर्ज कराया है। उन्होंने शहरभर में एक पोस्टर जारी किया है जिस पर लिखा है ‘अविरल निर्मल गंगा की मांग को लेकर विगत 113 दिनों से अनशन कर रहे पर्यावरणविद गंगापुत्र स्वामी ज्ञानस्वरूप सानंद जी के मौत की सीबीआई जांच हो ?’इस पोस्टर पर शिवसेना के शीर्षस्थ नेताओं के साथ अरुण पाठक ने सानंद जी का भी चित्र लगाया है।

शिवसेना नेता अरुण पाठक ने बताया कि स्वामी सानंद जी ने गंगा की अविरलता व निर्मलता के लिए एक अधिसूचना भी जारी की है जिसका नाम राजपत्र है। पांच पन्ने की इस अधिसूचना में उन्होंने गंगा के लिए नियम बनाए हैं, जिसका खुलासा बहुत जल्द किया जाएगा।

 

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x