नेताजी श्री सुभाष चंद्र बोस की भारत में दस्तक के सम्मान में –

1- भारत में अनुपालित हो भारत का अत्यंत महत्वपूर्ण, अनिवार्य व परमावश्यक  भारतीय उत्तराधिकार /वारिस /सन्यास /नागरिक कानून – यह वह कानून है जिसका अनुपालन सभी की बिगड़ी हुई तकदीर, तस्वीर व तासीर को पूर्ववत् सुधरी हुई तकदीर, तस्वीर व तासीर बना देता है। 
2- भारत के वर्तमान शासक प्रधानमंत्री से, वर्तमान भारत के मान. राष्ट्रीय सर्वोच्च मुख्य अनुशासक न्यायाधीश जी को हासिल हो, मान. सर्वोच्च प्रथम भारतीय सर्वोच्च मुख्य अनुशासक न्यायाधीश साहब। 
3- भारत में अनुपालित हो, लोकतांत्रिक राज्य सुव्यवस्था संचालन की, भारतीय न्यायपालिका की स्वाचालित संघात्मक कार्य प्रणाली। 
4- भारत में अनुपालित हो, भारतीय उत्तराधिकार विशिष्ट प्रमाणपत्र व पहचान-पत्र। 
5- समस्त भारतीय मानव किसानों का भारतीय घर व भारतीय कृषि जनजीविका विशिष्ट अर्थव्यवस्था हो स्वाधीन (आत्मनिर्भर), निर्विवादित न्याययुक्त, नियंत्रित वैभवशाली उत्पादनशील व सुरक्षित तथा भारत में इनके समस्त राष्ट्रीय नागरिक जवानों का राष्ट्रीय मकान व राष्ट्रीय सैन्य जनजीवन विशिष्ट सैन्य व्यवस्था हो संगठित (विकासशील), निर्बाधित अपराध मुक्त, नियंत्रित समृद्धिशाली प्रगतिशील व अनुशसित। 
6- जिससे कि भारत हो सर्वमान्य, विश्वमान्य, विश्व विजयी कृषि व सैन्यशक्तिशाली, विश्वगुरू, हिंसा व दुष्कर्म से दूर रहने वाला अत्याधुनिक, गौरवशाली, सुखी, विश्वशांति व मानवता से युक्त अखंड भारतवर्ष।         
…………………
_राकेश प्रकाश सक्सेना, एडवोकेट 
0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x