चन्दौली की बेटी को आयरन लेडी सम्मान

 सच की दस्तक डेस्क चन्दौली
इण्डो नेपाल समरसता आर्गेनाइजेशन द्वारा प्रति वर्ष भारत की पूर्व प्रधानमंत्री व प्रथम महिला प्रधानमंत्री स्व० श्रीमती इन्दिरा गॉधी के शहादत दिवस पर नई दिल्ली में दिया जाने वाला आयरन लेडी समरसता पुरस्कार वितरण समारोह गुरूवार को आयोजित हुआ। जिसमें नेपाल देश के पूर्व उपराष्ट्रपति न्यायमूर्ति परमानन्द झां ने चयनित सभी महिलाओं सहित चन्दौली जिले के चहनियॉ विकास खण्ड अन्तर्गत जगरनाथपुर की निवासिनी समाजसेविका डा० सरिता मौर्या को शाल, मेडल, प्रशस्ति पत्र, नेपाल देश की टोपी व चेक प्रदान करके सम्मानित किया। गौरतलब है कि आयरन लेडी ऑफ इंडिया स्व0 श्रीमती इन्दिरा गॉधी के व्यक्तित्व से प्रभावित होकर नेपाल समरसता आर्गेनाइजेशन द्वारा भारत देश सहित अन्य 22देशों के सहयोग से प्रतिवर्ष भारत की प्रथम महिला प्रधानमंत्री स्व० श्रीमती इन्दिरा गॉधी के शहादत दिवस पर नई दिल्ली में समरसता कार्यक्रम आयोजित करके आयरन लेडी समरसता पुरस्कार चयन समिति द्वारा नेपाल व भारत की सामाजिक क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ सराहनीय योगदान देने वाली सौ महिलाओं को सम्मानित किया जाता है और उनसे संकल्प कराया जाता है कि भविष्य में भी वे इसी तरह से अपने सामाजिक कार्यों को जारी रखेंगी। इसीक्रम में गुरूवार को नई दिल्ली में इण्डो नेपाल समरसता आर्गेनाइजेशन द्वारा आयोजित कार्यक्रम में नेपाल की पूर्व मंत्री श्रीमती डिम्पल झा, सांसद अनिल झा, हरियाणा के कालीदास महाराज, मध्यप्रदेश के कम्प्यूटर बाबा, नेपाल के पूर्व राजदूत श्यामानन्दन सुमन, झारखण्ड के प्रकाशानन्द जी महाराज, राजस्थान के भज्जाराम महाराज सहित अन्य गणमान अतिथियों की उपस्थिति में नेपाल के पूर्व उपराष्ट्रपति न्यायमूर्ति परमानन्द झां ने चयनित सभी महिलाओं सहित चन्दौली जिले के चहनियॉ विकास खण्ड अन्तर्गत जगरनाथपुर की निवासिनी समाजसेविका डा०सरिता मौर्या को शाल, मेडल, प्रशस्तिपत्र, नेपाली टोपी व चेक प्रदान करके सम्मानित किया। सम्मान प्राप्त होने के बाद समाज सेविका डा०सरिता मौर्या ने टेलीफोन पर वार्ता के दौरान कहा कि यह पुरस्कार मिलने से सिर्फ मैं गौरवान्वित नहीं हूं बल्कि यह पुरस्कार चन्दौली जनपद के सभी माताओं बहनों व समाज सेवा से जूड़े लोगों को गौरवान्वित करने के लिए है। इसका श्रेय मेरे परिजनों सहित उस हर शख्स को है जो मेरे कार्य में सहयोग देकर मुझे प्रोत्साहित करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *