कविता : जय परशुराम भगवान ✍️गोपाल कौशल

जय परशुराम भगवान
⛳⛳⛳⛳⛳
जमदग्नि ऋषि हुए महान
रेणुका ने जन्मा परशुराम ।
चहुंओर गाएं  मंगल गान
धन्य हुआ जानापाव धाम ।।
फूलों को दी इन्होंने खुशबू
सह्स्त्रार्जुन को देकर मात ।
अधर्म धरा से मिटाने आएं
साक्षात भगवान परशुराम ।।
करें मानव सदा नेक काम
इतिहास में अमर  हो नाम ।
प्राणियों को भयमुक्त करने
आएं साक्षात भगवान परशुराम ।।
     
      जय परशुराम
   ⛳⛳⛳⛳⛳
मेरी कलम अब तैश में हैं
दुखी जन के आदेश में हैं ।
दुष्टो को कठिन  पहचाना
कलम परशुराम के भेष में है ।।
           
      ✍ गोपाल कौशल
       नागदा जिला धार मध्यप्रदेश
          099814-67300
0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x