जिलाबदर अपराधी राजनीतिक सोच का हुआ शिकार

खबर चंदौली से

उत्तर प्रदेश के जनपद चंदौली में मुगलसराय कोतवाली अंतर्गत डांडी ताल से जिलाबदर अपराधी श्रवण यादव को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

सूत्रों की मानें तो जिलाबदर अपराधी श्रवण यादव पंडित दीनदयाल नगर पालिका परिषद के सुभाष नगर वार्ड से सभासद का पति है । सभासद प्रतिनिधि के रूप में निरंतर कार्य कर रहा है ।चुनाव होने के बाद करीब 1 साल बीतने को आए अभी तक खुलेआम घूमने वाला अपराधी पुलिस की पकड़ से बाहर था जैसा कि पुलिस ने अखबार नवीसो  को बताया ।जबकि सच्चाई यह थी कि सभासद प्रतिनिधि के रूप में श्रवण यादव काम कर रहे थे। नाली बनाने से लेकर नगर पालिका की हर कार्यों में पत्नी के प्रतिनिधि के रूप में कार्य करते नजर आते रहे  थे लेकिन पुलिस ने कभी भी इन पर हाथ नहीं लगाया।

इधर छात्र संघ चुनाव लाल बहादुर शास्त्री महाविद्यालय के प्रारंभ हुए और अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से आकाश तिवारी को सत्तारूढ़ दल ने छात्र राजनीति के रूप में अपने प्रतिनिधित्व के रूप में उतारा । बाकायदा गाजे-बाजे के साथ आकाश तिवारी ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय विधानसभा की विधायक साधना सिंह की उपस्थिति में अपना नामांकन अध्यक्ष पद के लिए किया। उधर दूसरी तरफ समाजवादी छात्र सभा के उम्मीदवार मुरली मनोहर यादव ने भी अपना नामांकन किया ।

सूत्रों की मानें तो इस नामांकन में सभासद प्रतिनिधि श्रवण यादव भी अपनी उपस्थिति दर्ज कराई थी। सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी के लोगों को यह चुभ गया। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के विरुद्ध श्रवण यादव ने विगुल फूंक दिया था। ऐसे में आंख की किरकिरी ना हो जाए और विद्यार्थी परिषद के वोट में सेंध न  लग जाए ऐसा सोच कर सत्ता पार्टी के लोग परेशान थे।

सूत्रों को माने उसी के कारण एक बार पुनः पुलिस प्रशासन की मदद से उसकी अपराधिक रिकॉर्ड को   खंगाला गया हो । जिलाबदर अपराधी श्रवण यादव पर मुगलसराय व अलीनगर में कई मुकदमे दर्ज हैं। उनको देखते हुए पुलिस ने डांडी ताल से श्रवण यादव को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया ।

सोचनीय बात यह है कि यदि अपराधी छवि थी तो पुलिस को खुलेआम घूम रहे इस प्रतिनिधि के रूप में पहले ही गिरफ्तारी कर लेना चाहिए था ।इतनी देरी क्यों हुई यह तो जवाब पुलिस प्रशासन ही देना होगा और निश्चित तौर पर यह प्रश्न सबके दिमाग में कौंधने लगा है।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x