Jodhpur Violence: मूर्ति पर फहराया इस्लामिक झंडा

Jodhpur News: ईद की पूर्व संध्या पर दो गुटों में हुई झड़प के बाद जिले और शहर में इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई हैं. फिलहाल पुलिस ने तीन लोगों को हिरासत में भी लिया है. अब 10 थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू लगा दिया गया है.

  • जोधपुर में ईद की पूर्व संध्या पर दो गुटों में झड़प
  • पुलिस ने किया लाठीचार्ज, आंसू गैस के छोड़े गोले
  • जिले में 3 मई को रात 1 बजे इंटरनेट सेवाएं बंद

राजस्थान के जोधपुर में देर रात झंडे-लाउडस्पीकर को लेकर शुरू हुआ हंगामा थम नहीं रहा. आज सुबह वहां नमाज के बाद झड़प हुई. हिंसा की आग विधायक के घर तक भी पहुंच गई है. बीजेपी विधायक सूर्यकांत व्यास के घर के बाहर उपद्रवियों ने बाइकों को आग लगा दी. फिलहाल पुलिस ने तीन लोगों को हिरासत में भी लिया है. जोधपुर में अब 10 थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू लगा दिया गया है. ये कर्फ्यू 4 मई की रात तक जारी रहेगा.

इससे पहले सुबह दोबारा पथराव की खबरें सामने आईं थीं. पुलिस ने इससे निपटने लाठीचार्ज भी किया और आंसू गैस के गोले भी दागे. यह हंगामा सोमवार रात यानी ईद की पूर्व संध्या से शुरू हुआ था. हिंसा की घटना के बाद राजस्थान सरकार हरकत में आई है. सीएम गहलोत ने एक हाईलेवल मीटिंग बुलाई. इसमें DGP और दूसरे अधिकारी शामिल हुए.

सीएम ने गृह मंत्री को जोधपुर जाने के लिए कहा

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने उच्च स्तरीय बैठक के बाद ट्वीट कर कहा है कि पुलिस-प्रशआसन को शांति-व्यवस्था बनाए रखने के लिए हर जरूरी कदम उठाने के निर्देश दिए हैं. असामाजिक तत्वों की पहचान कर उनके खइलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी. जोधपुर में हुई घटना दुर्भाग्यपूर्ण है. अपराधी चाहे जिस धर्म, जाति या वर्ग का हो, उसे बख्शा नहीं जाएगा. उन्होंने लोगों से सौहार्द और शांति बनाए रखने की अपील करते हुए कहा है कि गृह मंत्री राजेंद्र सिंह यादव, जोधपुर के प्रभारी मंत्री सुभाष गर्ग, अतिरिक्त मुख्य सचिव गृह भय कुमार, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) हवा सिंह घुमरिया को तत्काल जोधपुर जाने के निर्देश दिए हैं.

मुख्यमंत्री ने स्थगित किए जन्मदिन पर आयोजित कार्यक्रम

जोधपुर की घटना को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने जन्मदिन पर आयोजित सभी कार्यक्रम स्थगित कर दिए हैं. सीएम गहलोत ने ट्वीट कर कहा है कि आज मेरे जन्मदिवस के अवसर पर बड़ी संख्या में लोग मुख्यमंत्री निवास पर मिलने आए. अचानक जोधपुर में दो समुदायों के बीच बढ़ते तनाव की सूचना से चिंता के कारण मुझे निवास से CMO जाकर मुख्य सचिव, डीजीपी के साथ जरूरी बैठक करनी पड़ी. उन्होंने कहा कि इसके लिए मैं निवास पर पधारे सभी लोगों से क्षमा चाहता हूं. स्मृति चिह्न और उपहारों के ऑक्शन समेत मेरे जन्मदिन पर आयोजित सभी कार्यक्रम स्थगित कर दिए गए हैं.

राज्यवर्धन सिंह राठौर ने सरकार पर साधा निशाना

सांसद राज्यवर्धन सिंह राठौर ने राजस्थान सरकार को निशाने पर लिया. वह बोले कि गहलोत सरकार एक समुदाय को खुश करने की कोशिश करती है. उन्होंने कहा कि राजस्थान को तालिबान बना दिया है और सरकार औरंगजेबी फैसले लेती है. वह बोले कि गहलोत मुख्यमंत्री के साथ गृहमंत्री भी है उनको इसकी जिम्मेदारी लेनी होगी.

जोधपुर में क्या हुआ?

जालोरी गेट इलाका जो कि मुस्लिम बहुल इलाका है वहां ईद से एक रात पहले उनके मजहब का झंडा लगाया गया था. इसके साथ वहां एक लाउडस्पीकर भी लगा था. फिर वहां कुछ हिंदू संगठन से जुड़े लोग पहुंचते हैं और लाउडस्पीकर हटाते हैं. हिंदू संगठन कहते हैं कि उन्होंने वहां परशुराम जयंती के दिन भगवा झंडा लगाया था.कुछ ने कहा कि मुकुन्द जी की मूर्ति पर पहले से ही झंडा लगा था जिसे मुस्लिमों ने उतार कर इस्लामिक झंडा फहरा दिया.. जो भी हो यह अराजक तत्वों का काम है। बाद में पत्थर भी फेंके गये..

 

झंडा उतारे जाने के वीडियो कुछ ही देर में वायरल हो गए थे, जिसके बाद मुस्लिम समाज के लोग भी वहां चौराहे पर पहुंच गए और फिर पत्थरबाजी हुई.

जालोरी गेट पर लाउडस्पीकर को लेकर शुरू हुआ विवाद.

रात को किसी तरह बात संभल गई. लेकिन फिर सुबह हालात बिगड़ गए. यहां स्वतंत्रता सेनानी बाल मुकुंद बिस्सा की मूर्ति के पास भगवा झंडे पर मुस्लिम समाज के लोगों की नजर सुबह तब पड़ती है जब वे नमाज के लिए जुटते हैं. घटना से गुस्साए मुस्लिम समाज के लोगों ने तब पथराव और आगजनी शुरू की थी.

फिर चौराहे पर कई गाड़ियों के कांच फोड़ दिए गए. फिर पथराव हुआ. भीड़ ने लाउडस्पीकर लगाए हुए उतार दिए. इधर, पुलिस ने भी उपद्रवियों को काबू करने के लिए हल्का बल प्रयोग किया.

पुलिस ने जालोरी गेट से ईदगाह रोड पर आंसू गैस के गोले दागे. देखते-देखते भारी संख्या में जाब्ता तैनात किया गया. दोनों पक्षों के लोग जमा हो गए. पुलिस ने देर रात को पूरा इलाका लोगों से खाली करवा लिया.

इंटरनेट बंद

इस झड़प के बाद जिले और शहर में इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई हैं. संभागीय आयुक्त हिमांशु गुप्ता ने अपने आदेश में कहा है कि कानून व्यवस्था को देखते हुए जिले में 3 मई को रात 1 बजे से इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई हैं.

पत्रकारों को भी पीटा

इस दौरान मीडियाकर्मियों से पुलिस का विवाद हुआ. पत्रकारों पर भी लाठियां भांजी गईं. वहीं, एक पत्रकार को चोट भी लगी. पत्रकार इसका विरोध जताने के लिए सड़क पर धरने पर बैठ गए.

जालोरी गेट पर झंडे और लाउड स्पीकर लगाने को लेकर हुआ झगड़ा.

दोबारा हथियार लेकर आए लोग

रात को ईदगाह रोड से फिर लोग हथियार के साथ एकत्र होकर आए थे और पुलिस पर पथराव किया था. पुलिस ने फिर से आंसू गैस के गोले छोड़े. मौके पर तनाव जारी है. पुलिस ने आरएसी तैनात कर दी है. वहीं, मौके पर डीसीपी ईस्ट और वेस्ट मौके पर हैं.

Sach ki Dastak

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x