Lok Sabha Result : पीएम मोदी के देश से 3 वादे- बदनीयती से कोई काम नहीं करूंगा…

लोकसभा चुनाव 2019 की मतगणना आज सुबह 8 बजे से जारी है। शुरुआती रुझानों में भाजपा नीत एनडीए आगे चल रही है। 2019 लोकसभा चुनाव में मिली जीत के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने भाजपा मुख्यालय पर अपना पहला भाषण दिया। उन्होंने कहा कि 2019 लोकसभा के चुनाव में हम सब देशवासियों के पास नए भारत के लिए जनादेश लेने गए थे। आज हम देख रहे हैं कि देश के कोटि-कोटि नागरिकों ने इस फकीर की झोली को भर दिया। उन्होंने कहा कि ये जो मतदान का आंकड़ा है ये अपने आप में लोकतांत्रिक विश्व के इतिहास की सबसे बड़ी घटना है। ‘मैं इस लोकतंत्र के उत्तव में लोकतंत्र की खातिर, जिन-जिन लोगों ने बलिदान दिया है, जो घायल हुए हैं, उनके पारिवारजनों के प्रति संवेदना प्रकट करता हूं’। प्रधानमंत्री ने कहा कि इस चुनाव में ‘मैं पहले दिन से कहा रहा था कि ये चुनाव कोई दल नहीं लड़ रहा है, कोई उम्मीदवार नहीं लड़ रहा है, कोई नेता नहीं लड़ रहा है। ये चुनाव देश की जनता लड़ रही है’।

प्रधानमंत्री ने देश से किए तीन वादे—

मैं अपने लिए कुछ नहीं करुंगा
मेरा पल-पल और शरीर का कण कण देश को समर्पित होगा
बदइरादे और बदनियती से कोई काम नहीं करुंगा

बाद में सभी पन्ना प्रमुखों को बधाई भी दी-

आपको बता दें कि पन्ना प्रमुख किसे कहते हैं – 

कौन है पन्ना प्रमुख – 

पन्ना प्रमुख का मतलब पेज इंचार्ज होता है। दरअसल प्रत्येक पोलिंग बूथ में वोटर लिस्ट होती है। इस वोटर लिस्ट में सामान्य तौर पर देखा जाए तो 17-18 पेज होते हैं और जाहिर सी बात है इन पेजो में वोटरों का नाम होते है। पन्ना प्रमुख का काम इन पन्नों में दर्ज वोटरों में से 60 वोटरों पर ध्यान देना होता है। यानी पन्ना प्रमुख हर बूथ पर 60 वोटरों से सीधे संपर्क में रहते हैं और उन्हें भाजपा के लिए वोट दिलवाने में अहम भूमिका निभाते हैं।

 

  • ओडिशा सीएम नवीन पटनायक ने दी पीएम मोदी को जीत की बधाई
  • गोरखपुर की सीट भाजपा ने वापस पाई, 3 लाख वोट से जीते रविकिशन
  • आजमगढ़ में निरहुआ नहीं दे पाए अखिलेश को टक्कर
  • जया प्रदा, मुनमुन सेन, उर्मिला मातोंडकर और शत्रुघ्न सिन्हा की हार
  • सलमान खान ने दी पीएम नरेंद्र मोदी को जीत की बधाई
  • कंगना ने मनाया नरेंद्र मोदी की जीत का जश्न
  • धर्मेंद्र ने दी हेमा मालिनी-सनी देओल को ‘जीत’ की बधाई
  • अनुराग कश्यप ने ऐसा क्या ट्वीट किया, जो होने लगे ट्रोल

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि आज देश के अंदर आजादी के बाद सबसे ऐतिहासिक विजय नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा को प्राप्त हुई है। ये हम सबके लिए गौरव की बात है।

ये देश की जनता की विजय है। ये भाजपा के 11 करोड़ भाजपा के कार्यकर्ताओं के कठिन परिश्रम की विजय है। उन्होंने कहा कि ये विजय भाजपा की मोदी सरकार, जिसने 2014-2019 तक सबका साथ-सबका विकास की नीति से काम किया, ये उस नीति की विजय है। करोड़ों कार्यकर्ताओं ने इतने लंबे चुनाव अभियान में जो परिश्रम की पराकाष्ठा की वो हमारी जीत का आधार बना।

बता दें कि 2014 में जब जीत के बाद पहली बार मोदी सरकार बनी तो उन्होंने देशवासियों से काम करने के लिए 10 साल मांगें थे। जनता ने भी पीएम मोदी में भरोसा जताते हुए उनकी बात को रखा और मांगा हुआ पूरा समय उनको दे दिया। पीएम मोदी ने भी इसके लिए धन्यवाद किया। पीएम मोदी अमित शाह के बाद भाजपा मुख्यालय पहुंचे, जहां पर उत्साहित कार्यकर्ताओं ने उनका फूल बरसाकर स्वागत किया।

वहीं, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बधाई दी है। उन्होंने कांग्रेस कार्यकर्ताओं को भी दिल से चुनाव लड़ने के लिए धन्यवाद किया। उन्होंने कहा कि भाजपा और कांग्रेस दोनों अलग—अलग विचारधाराएं हैं। उन्होंने कहा कि चुनाव को लेकर वह अभी कोई टिप्पणी नहीं कर सकते। कांग्रेस अध्यक्ष ने अमेठी से जीत के लिए स्मृति ईरानी को भी बधाई दी है। 

राहुल को मिली गढ़ में हार-

अमेठी से स्मृति ईरानी जीती-

कांग्रेस की परम्परागत सीट अमेठी से भाजपा उम्मीदवार स्मृति ईरानी ने राहुल गांधी को हरा दिया है। चुनाव में मिली जीत के बाद स्मृति ने ट्वीट किया है। स्मृति ने लिखा कि ‘कौन कहता है कि आसमां में सुराख नहीं हो सकता… एक पत्थर तो तबीयत से उछालो यारो’।

अमित शाह छा गये – 

गुजरात की सबसे हॉट सीट गांधीनगर से भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह 5 लाख 54 हजार से अधिक मतों से जीते। लालकृष्ण आडवाणी की जीत का रिकॉर्ड तोड़ा।

एनडीए उम्मीदवारों को 298 सीटों पर बढ़त है। चुनाव परिणाम में एनडीए को मिली बढ़त के चलते भाजपा कार्यकर्ताओं में उत्साह है। भाजपा नेताओं ने दिल्ली पार्टी कार्यालय पर जश्न की तैयारी की है। वहीं, पीएम मोदी आज शाम 5.30 बजे पार्टी कार्यालय में भाजपा कार्यकर्ताओं से मुलाकात करेंगे। जिसके बाद भाजपा संसदीय बोर्ड की बैठक को होगी।

मध्यप्रदेश के गुना से कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया 126082 वोटों से पीछे।
– महाराष्ट्र कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अशोक चव्हाण नांदेड़ (महाराष्ट्र) से 32410 मतों से पीछे हैं।
– भोपाल (मध्य प्रदेश) से भाजपा के प्रज्ञा सिंह ठाकुर 298185 वोटों से आगे चल रहे हैं। कांग्रेस के दिग्विजय सिंह पीछे चल रहे हैं।

– भोपाल से कांग्रेस के उम्मीदवार दिग्विजय सिंह ने कहा— मैं लोगों के जनादेश को स्वीकार करता हूं।

– कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा हम लोगों के फैसले को स्वीकार करते हैं और पीएम मोदी और भाजपा कार्यकर्ताओं को बधाई देते हैं।

खड़गे की हार-

कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि हम चुनाव परिणाम स्वीकार करते हैं, लोगों ने हमें जो फैसला दिया, हम उसे स्वीकार कर रहे हैं। हम लोकतंत्र में विश्वास करते हैं। हम चर्चा करेंगे कि अपनी गलतियों को कैसे सुधारा जाए और पार्टी को कैसे मजबूत किया जाए।भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी ने चुनावों में इस अभूतपूर्व जीत के लिए और पार्टी को आगे बढ़ाने के लिए पीएम मोदी को बधाई दी है।

उन्होंने लिखा कि नरेंद्र भाई मोदी को हार्दिक बधाई। भाजपा अध्यक्ष के रूप में अमित भाई शाह और पार्टी के सभी समर्पित कार्यकर्ताओं ने यह सुनिश्चित करने के लिए भरसक प्रयास किए कि भाजपा का संदेश हर मतदाता तक पहुंचे।गुरदास सीट पर से पीछे चल रहे कांग्रेस के उम्मीदवार सुनील जाखड़ को लेकर पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने कहा कि सुनील जाखड़ एक अच्छे उम्मीदवार हैं, उन्होंने वहां बहुत काम किया था। यह एक ऐसी बात है जो मुझे समझ नहीं आई कि लोगों ने अनुभव की तुलना में अभिनेता को वरीयता दी।

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने पीएम नरेंद्र मोदी को “संसदीय चुनावों में भाजपा की जीत के संबंध में बधाई संदेश भेजा है।

– भूटान के राजा जिग्मे खेसर नामग्याल वांगचुक ने टेलीफोन पर बातचीत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बधाई दी।

– जापानी पीएम शिंजो आबे ने टेलीफोन पर बातचीत में पीएम नरेंद्र मोदी को बधाई दी।

– चीन के शी जिनपिंग ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बधाई दी।

नेपाल के प्रधान मंत्री के पी शर्मा ओली ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पर बधाई दी
– अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने ट्वीट किया, “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भारत के लोगों से एक मजबूत जनादेश की बधाई।

– अफगानिस्तान की सरकार और अफगानिस्तान के लोग हमारे दो लोकतंत्रों के बीच सहयोग का विस्तार करने के लिए तत्पर हैं।

– बांग्लादेशी पीएम शेख हसीना ने पीएम नरेंद्र मोदी को बधाई संदेश भेजा है।

– वियतनाम के प्रधानमंत्री गुयेन जुआन फुक ने पीएम नरेंद्र मोदी को बधाई देते हुए लिखा है।

जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला ने कहा कि कौन कह सकता है कि अगर बालाकोट नहीं हुआ होता तो क्या होता। लेकिन यह सच है कि बालाकोट के बाद के विपक्ष ने अपना अधिकांश हिस्सा खो दिया। ऐसे कई मुद्दे हैं जिन पर हम चर्चा कर सकते हैं।

– महाराष्ट्र: ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के नेता इम्तियाज जलील औरंगाबाद से 35,000 वोटों से आगे।

– सोनिया गांधी दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के आवास से निकलीं।

– अमेठी से भाजपा की स्मृति ईरानी 11226 वोटों के साथ राहुल गांधी से आगे रहीं

– पटना साहिब (बिहार) से कांग्रेस के शत्रुघ्न सिन्हा से भाजपा के रविशंकर प्रसाद 144499 मतों के अंतर से आगे

– गांधीनगर से अमित शाह को चार लाख की बढ़त।

चुनावी रुझानों को देखते हुए भाजपा मुख्यालय के सामने सुरक्षा बढ़ा दी गई है। वाराणसी से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आगे चल रहे हैं। जबकि गुजरात की गांधीनगर सीट से अमित शाह बढ़त बनाए हुए हैं। उत्तर प्रदेश की अमेठी लोकसभा सीट से राहुल गांधी पिछड़ रहे हैं। भाजपा उम्मीदवार स्मृति ईरानी उनसे आगे चल रही हैं। हालांकि केरल की वायनाड सीट से राहुल गांधी बढ़त बनाए हुए हैं।

 बिहार में 40 सीटों में से 39 पर भाजपा आगे
– महाराष्ट्र की 48 में से 37 सीटों पर बीजेपी आगे

– महाराष्ट्र की उत्तर मुंबई सीट से कांग्रेस की उम्मीदवार उर्मिला मंतोडकर चल रहीं हैं। यहां भाजपा के गोपाल शेट्टी से बढ़त बनाए हुए हैं।

– पश्चिम बंगाल की कुल 42 सीटों में से 24 सीटों पर टीएमसी आगे, 17 सीटों पर बीजेपी और 1 सीट पर कांग्रेस की बढ़त

– ओडिशा की पुरी लोकसभा सीट से भाजपा संबित पात्रा 700 वोटों से आगे।
– मध्य प्रदेश के गुना से कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया पीछे।
– गाजीपुर और सुल्तानपुर केंद्रीय मंत्री मनोज सिन्हा और मेनका गांधी पीछे।

– आंध्र प्रदेश विधानसभा चुनाव में YSRCP 149 सीटों पर आगे, TDP 25 सीटों पर और जनसेना पार्टी 5 सीटों पर आगे।

– पश्चिम बंगाल: कोलकाता में भाजपा कार्यालय के बाहर जश्न।

– ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के नेता असदुद्दीन ओवैसी हैदराबाद लोकसभा क्षेत्र से 85,000 से अधिक वोटों से आगे।

– महाराष्ट्र: पूर्व गृह मंत्री और कांग्रेस नेता सुशील कुमार शिंदे सोलापुर से पीछे, एनसीपी की सुप्रिया सुले बारामती से पिछड़ीं

वायनाड से राहुल आगे

राहुल गांधी वायनाड सीट पर काफी आगे चल रहे हैं। यहां राहुल गांधी अपने प्रतिद्वंदी एलडीएफ प्रत्याशी पीपी सुनीर से लगभग 58392 वोटों से आगे हैं।

रामपुर से आजम आगे

उत्तर प्रदेश की रामपुर सीट से आजम खान ने आगे हैं। जबकि भाजपा प्रत्याशी जयाप्रदा काफी पीछे चल रहीं हैं।

आजमगढ़ अखिलेश यादव आगे

यूपी की ही आजमगढ़ सीट से सपा के अखिलेश यादव बढ़त बनाए हैं। जबकि भाजपा के निरहुआ अभी पीछे चल रहे हैं।

शत्रुघ्न सिन्हा पीछे

बिहार की प्रतिष्ठित सीट पटना साहिब से कांग्रेस उम्मीदवार शत्रुघ्न सिन्हा पीछे हैं। यहां से भाजपा उम्मीदवार रविशंकर प्रसाद आगे हैं।

उत्तर प्रदेश में गठबंधन फेल-

यूपी में समाजवादी, बहुजन समाज पार्टी और राष्ट्रीय लोकदल का गठबंधन भी कामजोर साबित हो रहा है। अभी तक के रुझानों में 52 में एनडीए को 37 पर बढ़त बनाए हैं, जबकि महागठबंधन को 
13 और कांग्रेस को 2 सीटें पर आगे है।

दिल्ली में भाजपा सातों सीटों पर आगे-

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में भाजपा सभी 7 सीटों पर आगे चल रही है। 2014 के लोकसभा चुनाव में भी भाजपा ने ही सारी सीटें जीतीं थीं। ताजा जानकारी के अनुसार गौतम गंभीर और मनोज तिवारी समेत भाजपा के सभी उम्मीदवार आगे हैं।

अमेठी से राहुल पीछे-

इसके साथ ही उत्तर प्रदेश की वीआईपी सीट अमेठी से राहुल से 5000 वोटों से पिछड़ रहे हैं। यहां भाजपा की स्मृति ईरानी आगे हैं। जबकि लखनऊ सीट से गृहमंत्री राजनाथ सिंह आगे हैं।

गुरदासपुर से भाजपा उम्मीदवार सनी देओल आगे
— आनंदपुर साहिब से कांग्रेस के मनीष तिवारी आगे
— अमृतसर से भाजपा के गुरजीत सिंह सिंह आगे
— भटिंडा से शिरोमणी अकाली दल के प्रकाश सिंह बादल को बढ़त

साध्वी प्रज्ञा ठाकुर आगे

मध्य प्रदेश की बहुचर्चित सीट भोपाल से भाजपा उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा आगे चल रही हैं। यहां कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजय सिंह पीछे हैं।

ज्योतिरादित्य सिंधिया भी पीछे

इसके साथ ही मध्य प्रदेश के ही गुना से कांग्रेस प्रत्याशी ज्योतिरादित्य सिंधिया भी पिछड़ रहे हैं। हालांकि यह उनकी परंपरागत सीट है। शुरुआती रुझान में ज्योतिरादित्य पीछे चल रहे हैं।

 देवभूमि उत्तराखंड ने एक बार फिर ‘नमो लहर’ के साथ खुद को आत्मसात करते हुए लोकसभा चुनाव में राष्ट्रीय सुर में सुर मिलाया। भाजपा ने लगातार दूसरी बार राज्य की पांचों लोस सीटों पर परचम फहराया। नैनीताल सीट पर सबसे पहले नतीजा घोषित किया गया। यहां भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट निर्वाचित घोषित किए गए।

मतगणना पूरी होने पर हरिद्वार सीट पर पूर्व मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक और अल्मोड़ा में केंद्रीय राज्यमंत्री अजय टम्टा की जीत भी तय हो गई। रात दस बजे तक टिहरी में माला राज्यलक्ष्मी शाह और पौड़ी में राष्ट्रीय सचिव तीरथ सिंह रावत ने अजेय बढ़त ले ली थी। निशंक और टम्टा की लगातार दूसरी जीत, जबकि माला राज्यलक्ष्मी शाह की हैट्रिक तय हो गई है। भट्ट और रावत पहली बार संसद की सीढिय़ां चढ़ेंगे। इसके साथ ही कांग्रेस का राज्य में सूपड़ा साफ हो गया। साख बचाने की उसकी मुहिम मोदी लहर में गुम हो गई। कांग्रेसी दिग्गजों राष्ट्रीय महासचिव एवं पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह, राज्यसभा सदस्य प्रदीप टम्टा की हार भी तय हो गई है। चार सीटों पर महागठबंधन के प्रत्याशियों को मन मसोसकर रहना पड़ा। 

राज्य में प्रथम चरण में हुए लोकसभा चुनाव के लिए 11 अप्रैल को मतदान हुआ था। दिग्गजों की मौजूदगी के चलते सभी सीटें वीआइपी की श्रेणी में शामिल थीं और नतीजों पर मुख्य प्रतिद्वंद्वियों भाजपा एवं कांग्रेस की नजरें टिकी हुई थीं। पांचों सीटों पर किस्मत आजमा रहे 52 प्रत्याशियों का ईवीएम में बंद पिटारा गुरुवार को मतगणना में खुला। जिला मुख्यालयों में सुबह आठ बजे से चली मतगणना देर शाम तक जारी रही। इसके साथ ही जनादेश को लेकर तस्वीर भी साफ हो गई। सभी सीटों पर भाजपा ने एक बार फिर कब्जा जमाकर पिछला प्रदर्शन दोहराने में कामयाबी हासिल की। इसके साथ ही राज्य में लोस चुनाव में लगातार दूसरी बार क्लीनस्वीप करने वाली भाजपा पहली पार्टी बन गई है।

ईवीएम की मतगणना पूरी होने के साथ ही भाजपा प्रत्याशियों ने अजेय बढ़त हासिल कर ली थी। रात साढे नौ बजे पौड़ी व टिहरी सीटों पर पोस्टल बैलेट की गिनती और वीपीपैट व ईवीएम मिलान का कार्य चल रहा था। निर्वाचन आयोग ने नैनीताल, अल्मोड़ा व हरिद्वार के अंतिम आंकड़े जारी कर दिए थे। नैनीताल सीट का नतीजा घोषित कर दिया गया, जबकि अन्य सीटों के आधिकारिक नतीजे घोषित होने बाकी थे।

नैनीताल सीट पर पहली बार चुनाव मैदान में उतरे भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट रिकार्ड मतों से निर्वाचित घोषित किए गए। भट्ट ने 772195 मत हासिल कर अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव एवं पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत (433099) को 339096 मतों के बड़े अंतर से पराजित किया।

अल्मोड़ा सीट पर भाजपा प्रत्याशी केंद्रीय राज्यमंत्री अजय टम्टा ने 431277 मत हासिल किए, जबकि उनके निकटतम प्रतिद्वंद्वी राज्यसभा सदस्य एवं कांग्रेस प्रत्याशी प्रदीप टम्टा को 210123 मत प्राप्त हुए। इसके साथ अजय टम्टा की 221154 मतों से जीत की घोषणा होनी बाकी थी।

आयोग के आंकड़ों पर गौर करें तो हरिद्वार सीट पर भी भाजपा प्रत्याशी पूर्व मुख्यमंत्री एवं सांसद रमेश पोखरियाल निशंक की जीत तय हो गई है। निशंक 665674 मत हासिल कर अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस के अंबरीश कुमार (406945) पर 254786 मतों से अजेय बढ़त लिए हुए हैं। उनकी भी जीत का एलान होना बाकी है।

टिहरी सीट पर भाजपा प्रत्याशी टिहरी राज परिवार की बहू माला राज्यलक्ष्मी शाह की भी जीत की तय हो गई है। ईवीएम की गणना में वह अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह पर 293267 मतों की अजेय बढ़त लिए हुए थीं। इससे पहले माला राज्यलक्ष्मी शाह ने उप चुनाव और फिर 2014 में भी यह सीट जीती थी। पौड़ी सीट पर भाजपा के राष्ट्रीय सचिव तीरथ सिंह रावत की जीत तय हो गई है। ईवीएम की गणना में तीरथ 285003 मतों से अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस प्रत्याशी मनीष खंडूड़ी पर बढ़त बनाए हुए थे। उधर, रिकार्ड मतों से मिली जीत की खुशी में भाजपा ने जश्न मनाया, जबकि कांग्रेस खेमे में मायूसी छायी रही।

सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा, लोकतंत्र की आज फिर जीत हुई है। भाजपा की ऐतिहासिक जीत के लिए मतदाताओं और कार्यकर्ताओं का आभार। जनता ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व और विकासवादी नीतियों पर भारी बहुमत से विश्वास जताया है। प्रधानमंत्री ने उत्तराखंड को भी विकास की कई अहम योजनाओं को तोहफा दिया है। विपक्ष अपनी हार से बौखलाया हुआ है। यही कारण है कि वह इसका ठीकरा ईवीएम पर फोड़ रहा है, जबकि ईवीएम से चुनाव प्रक्रिया पारदर्शी हुई है। कांग्रेस ने ईवीएम के जरिये ही कई राज्यों में चुनाव जीते हैं। ऐसे में उसे ईवीएम की निष्पक्षता पर सवाल नहीं उठाने चाहिए। 

इससे पहले गृह मंत्रालय द्वारा सभी राज्यों को मतगणना के दौरान हिंसा की घटनाओं के अलर्ट के बाद पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। बुधवार को 22 विपक्षी दलों ने चुनाव आयोग के समक्ष अपनी असंतोष जाहिर किया था। विपक्षी दलों ने आयोग से मांग की थी कि मतगणना शुरू करने से पहले वीवीपैट पर्ची के जरिये मतों का सत्यापन किया जाए। हालांकि आयोग ने ईवीएम मशीनों के बदले जाने की विपक्षी दलों की आशंका खत्म करते हुए कहा था कि लोकसभा चुनाव में इस्तेमाल ईवीएम स्ट्रॉन्गरूम में पूरी तरह सुरक्षित हैं।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x