लोकसभा चुनाव बयानबाजी : अनपढ़ और जाहिल कहीं के..पूरी रिपोर्ट पढ़ें

लोकसभा चुनाव की सरगर्मी, नेताओं के बीच जुबानी जंग, आलम है कि अपनी आलोचना में प्रधानमंत्री पद की गरिमा का ख्याल भी नहीं रख रहे नेता। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) नेता माजिद मेमन ने सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल किया। उन्होंने प्रधानमंत्री को अनपढ़ और जाहिल कहीं के कहकर अपनी भाषा की मर्यादा की पूरी सीमा लांघ गये।

यह भाषा की मर्यादा का गिरता स्तर मेनन के बयान से उजागर होता है। मेमन ने कहा कि जनता सीधे प्रधानमंत्री का चुनाव नहीं करती और मुझ लगता है कि प्रधानमंत्री भी एक अनपढ़, जाहिल या रास्ते पर चलने वाले आदमी की तरह बात करते हैं। वो इतने बड़े पद पर बैठे हैं, उनका पद एक संवैधानिक पद है। उस संवैधानिक पद के लिए प्रधानमंत्री रास्ते में नहीं चुना जाता।

उन्होंने कहा कि यहां जनता प्रधानमंत्री का चुनाव नहीं करती बल्कि जनता द्वारा चुने गए सांसद प्रधानमंत्री का चुनाव करते हैं। इस बार भी सबसे बड़ा दल अपना प्रधानमंत्री चुनेगा।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x