भाग कर शादी : आशीर्वाद लेने झुकी गर्भवती बेटी तो पिता ने काट दी गर्दन –

एक पिता ने अपने सम्मान की खातिर भागी हुई बेटी की बड़ी ही बेहरहमी से हत्या कर दी , सूत्रों के मुताबिक बेटी से पिता इसलिए नाराज था कि वह अपने गांव के ही एक लड़के से भागकर शादी की थी। दोनों ने शादी मुंबई  से भाग मध्यप्रदेश के सतना में की थी। इस बात से लड़की के पिता बेहद ही नाराज थे। लड़की की शादी उसके पिता ने दो-दो बार तय की थी। फरवरी में जब वह अपने बॉयफ्रेंड से शादी की तो उस वक्त भी लड़की की शादी गांव के पास ही तय थी।

दरअसल, बीस साल की मीनाक्षी चौरसिया ने अपने पिता की पसंद से शादी नहीं की थी। इस बात से उसके पिता बेहद ही नराज चल रहे थे। बताया जाता है कि लड़की के पिता के उसके गांव वाले भी ताने देते थे। इसी से नाराज पिता राजकुमार चौरसिया ने शनिवार की रात अपनी गर्भवती बेटी की गर्दन पर चाकू से वार कर हत्या कर दी। उसके बाद वह फरार हो गया। पुलिस सोमवार की सुबह उसे गिरफ्तार कर लिया है।

मीनाक्षी का शव खून से लथपथ रविवार को नारायण नगर के पास फूटपाथ पर एक ऑटोरिक्शा चालक ने देखा। उसके बाद मीनाक्षी के पति ने शव की पहचान की। महिला के पति ने बताया कि शनिवार को रात 10 बजे वह डॉक्टर के यहां दिखाने के नाम पर घर से गई थी।

मुंबई पुलिस ने डीसीपी जोन-7 अखिलेश सिंह ने बताया कि मीनाक्षी अपने पति ब्रिजेश के साथ फरवरी 2019 में मध्यप्रदेश के सतना गई थी। जहां दोनों ने कोर्ट मैरिज की। लेकिन मीनाक्षी के पिता चाहते थे कि बेटी उनके पसंद की लड़के से शादी करे। क्योंकि उन्होंने लड़की की दूसरी जगह शादी के लिए तैयारी कर ली थी। साथ ही शादी के कार्ड भी बंट गए थे।

मीनाक्षी के पति ने बताया कि वह घर से निकलते वक्त बोली थी कि डॉक्टर के पास से वह अपने पिता से मिलने जाएगी। पुलिस के अनुसार मीनाक्षी और उसके पति का कुछ दिन पहले पिता राजकुमार चौरसिया से विवाद भी हुआ था। मीनाक्षी और ब्रिजेश एक-दूसरे को पिछले चार साल से जानते थे। उसके पिता ने दो साल पहले गांव के ही एक लड़के शादी तय कर दी थी। लेकिन मीनाक्षी ने इनकार कर दिया और कहा कि मैं मुंबई जाऊंगी और उसी लड़की से शादी करूंगी।

फुटपाथ पर पड़ा मिला शव-

मीनाक्षी का शव खून से लथपथ रविवार को नारायण नगर के पास फूटपाथ पर एक ऑटोरिक्शा चालक ने देखा। उसके बाद मीनाक्षी के पति ने शव की पहचान की। महिला के पति ने बताया कि शनिवार को रात 10 बजे वह डॉक्टर के यहां दिखाने के नाम पर घर से गई थी।

सतना में की थी शादी-

मुंबई पुलिस ने डीसीपी जोन-7 अखिलेश सिंह ने बताया कि मीनाक्षी अपने पति ब्रिजेश के साथ फरवरी 2019 में मध्यप्रदेश के सतना गई थी। जहां दोनों ने कोर्ट मैरिज की। लेकिन मीनाक्षी के पिता चाहते थे कि बेटी उनके पसंद की लड़के से शादी करे। क्योंकि उन्होंने लड़की की दूसरी जगह शादी के लिए तैयारी कर ली थी। साथ ही शादी के कार्ड भी बंट गए थे।

पिता से मिलने की इच्छा बनी काल – 

मीनाक्षी के पति ने बताया कि वह घर से निकलते वक्त बोली थी कि डॉक्टर के पास से वह अपने पिता से मिलने जाएगी। पुलिस के अनुसार मीनाक्षी और उसके पति का कुछ दिन पहले पिता राजकुमार चौरसिया से विवाद भी हुआ था। मीनाक्षी और ब्रिजेश एक-दूसरे को पिछले चार साल से जानते थे। उसके पिता ने दो साल पहले गांव के ही एक लड़के शादी तय कर दी थी। लेकिन मीनाक्षी ने इनकार कर दिया और कहा कि मैं मुंबई जाऊंगी और उसी लड़की से शादी करूंगी।

बाद में मीनाक्षी उस लड़के के साथ भाग गई। उसके बाद मीनाक्षी के परिवार वालों ने मंतुगा पुलिस स्टेशन में अपहरण का केस दर्ज करवा दिया।

शादी कैंसिल से शर्मिंदा थे मीनाक्षी के पिता – 

वहीं, शादी कैंसिल होने के बाद मीनाक्षी के पिता शर्मिंदा थे। हालांकि बाद में उन्होंने खुद को संभाल लिया था। मगर एक शर्त रखी थी कि दोनों उस गांव का दौरा न करेंं, जहां दोनों के परिवार रहते थे।

नाराजगी – 

कुछ दिन पहले दंपत्ति ने राजकुमार चौरसिया से कहा कि हमलोग गणेश उत्सव के दौरान गांव जाने की सोच रहे हैं। ब्रिजेश और उसका परिवार गांव में उत्सव का एक हिस्सा है और हर साल वहां जाता है। वह गर्भवती पत्नी को अकेले मुंबई में नहीं छोड़ सकता है। जिससे राजकुमार नाराज हो गया।

पैर छूने के लिए झुकी तभी काट दी गर्दन-

पुलिस ने बताया कि राजकुमार और मीनाक्षी ने इसके बाद फोन पर बहस की। जिसके बाद शनिवार की रात उसे मिलने के लिए बुलाया। राजकुमार ने पुलिस को बताया कि जब हम मिले तो वह पैर छूने के लिए नीचे झुक। उसके बाद पीछे से सिर और गर्दन पर वार कर दिया। उसके बाद मीनाक्षी की मौके पर ही मौत हो गई।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x