पाकिस्तान अपनी मौत मरेगा, उसे छोड़ हमें आगें जाना है: प्रधानमंत्री मोदी

चौकीदार एक स्पिरिट है एक भावना है – मोदी

  • तालकटोरा स्टेडियम से 500 स्थानों पर पीएम ने किया  सीधा संवाद।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी’मैं भी चौकीदार‘ अभियान के तहत वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए देश के 500 संसदीय क्षेत्रों के लोगों और चौकीदारों को संबोधित कर रहे हैं। कांग्रेस के ‘चौकीदार चोर है’ के खिलाफ दिल्‍ली के तालकटोरा स्‍टेडियम में बीजेपी ने मेगा शो का आयोजन किया है।

 मैंने देश में एक माहौल बनाया है और आगे भी बनाना है कि हमे दुनिया की बराबरी करनी है। हमने बहुत सारा समय भारत पाकिस्तान करने में ही गुजार दिया। अरे वो अपनी मौत मरेगा उसे छोड़ दो, हमें आगे जाना है बस इसी पर हमारा ध्यान रहना चाहिए: प्रधानमंत्री मोदी

जिन्होंने देश को लूटा है, उन्हें पाई-पाई लौटानी पड़ेगी। 2014 से सारी चीजें इकट्ठा करना और समेटने का काम मैं कर रहा हूं। आपकी मदद से जेल के दरवाजे तक तो मैं इन लोगों को ले गया, कुछ जमानत पर हैं और कुछ डेट मांग रहे हैं : पीएम

कुछ लोग विदेश की अदालतों में कहते हैं कि भारत की जेलों की स्थिति अच्छी नहीं है। अब इनको कोई महल में थोड़ी रखेगा। अंग्रेजों ने गांधी जी को जिस जेल में रखा था, मैं उनको उससे अच्छी जेल नहीं दे सकता: प्रधानमंत्री

 

-मैं चीजें इकट्ठा करना और समेटने का काम कर रहा हूं। आपकी मदद से जेल के दरवाजे तक तो मैं इन लोगों को ले गया, कुछ जमानत पर हैं और कुछ डेट मांग रहे हैं : पीएम

– ‘मिशन शक्ति’ के द्वारा हमारे देश के वैज्ञानिकों ने वो शक्ति हासिल की है। जो हमसे पहले दुनिया के केवल तीन देशों के पास थी। क्या हिंदुस्तान को इस बात के लिए इंतजार करना चाहिए था। जबकि हमारे वैज्ञानिकों के पास इसे प्राप्त करने की क्षमता है तो किसी को हिम्मत करके इसपर निर्णय करना ही था। 

 

– पाकिस्तान को लगता होगा की मोदी चुनाव में व्यस्त होगा तो शायद कुछ करेगा नहीं। मेरे लिए चुनाव प्राथमिकता नहीं है, देश प्रथमिकता है : प्रधानमंत्री

 

– अगर मोदी अपने राजनीतिक भविष्य का सोचता, तो वो मोदी नहीं होता। अगर यही राजनीतिक पैंतरेबाजी से देश चलाना होता, अपने राजनीतिक हित को लेकर फैसले करने होते, तो मोदी की देश को कोई जरूरत नहीं थी: प्रधानमंत्री

– जहां तक निर्णय का सवाल आता है तो आपने इस देश में बहुत सारे प्रधानमंत्री देखें हैं या उनके विषय में सुना है। 2014 में भी कईं लोग उस कतार में थे। आज लाइन थोड़ी लंबी हो गयी है: प्रधानमंत्री

– बालाकोट मैंने नहीं किया, देश के जवानों ने किया है, हमारे सुरक्षा बलों ने किया है। इसलिए हम सबकी तरफ से उन्हें, सैल्यूट: पीएम

– देश की जनता फिर से एक बार हमे देश की सेवा करने का मौका देने वाली है। मुझे खुशी है कि देश का युवा दूर का देखते हैं। हम राजनेता तो अभी 11 को क्या होगा या 21 को क्या होगा इसी में लगे पड़े हैं और आप शपथ के विषय में सोच रहे हैं: प्रधानमंत्री

– देश की जनता को राजा-महाराजा की जरूरत नहीं है। देश की जनता को हुकुमदारों की जरूरत नहीं है। देश की जनता चौकीदार को पसंद करती है : पीएम

– चौकीदार न कोई व्यवस्था है, न किसी यूनिफॉर्म की पहचान है न कोई चौखट में बंधा है। चौकीदार एक स्पिरिट है, एक भावना है: पीएम

– मैंने तब कहा था कि मेरी ये कोशिश रहेगी कि मैं जनता के पैसे पर पंजा नहीं पड़ने दूंगा। एक चौकीदार के रूप में मैं अपनी जिम्मेदारी निभाऊंगा: पीएम

– आज देशभर में करीब 500 से अधिक स्थानों पर इसी प्रकार से देश के लिए कुछ कर गुजरने वाले, देश के सम्मान में ही अपना गर्व अनुभव करने वाले लाखों लोगों से तकनीक के माध्यम से मुझे मिलने का सौभाग्य मिला है। मैं टैक्स देने वाले सभी ईमानदार देशवासियों का आभारी हूँ… 

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x