Mathura News: आस्था पर महामारी का साया-ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन से मिलेगा बांकेबिहारी मंदिर में प्रवेश

हर दिन दो हजार श्रद्धालु ही कर सकेंगे दर्शन

मथुरा: भगवान श्रीकृष्ण की जन्म और लीला स्थली में कोरोना के बढ़ते प्रभाव और मंदिरों में बेपरवाह श्रद्धालुओं को देखते हुए श्रीबांकेबिहारी मंदिर प्रबंधन ने ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया एक बार फिर प्रभावी कर दी है। डीएम ने मंदिर प्रबंधन को सख्ती बरतने के निर्देश भी दिए है। मंदिर प्रबंधक मुनीश कुमार शर्मा ने सोमवार से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया को लागू किया। इसमें स्पष्ट किया है कि अब कोई भी व्यक्ति बगैर रजिस्ट्रेशन के मंदिर में प्रवेश नहीं करेगा। इसके साथ ही एक साथ सिर्फ पांच श्रद्धालु ही मंदिर में प्रवेश कर सकेंगे। इसमें भी उन्हें मास्क की अनिवार्यता बरतनी होगी। भक्तों से यह भी अपील की गई है कि 60 साल से अधिक उम्र के बुजुर्ग और 10 साल छोटे बच्चों को मंदिर लाने से बचें। इस व्यवस्था के तहत हर दिन करीब दो हजार श्रद्धालु ही दर्शन कर सकेंगे।

एक समय पर सिर्फ 5 भक्तों करेंगे दर्शन

कोरोना संक्रमण के खतरनाक स्तर को देखते हुए रविवार रात नौ बजे से नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया है। कर्फ्यू का उल्लंघन करने वालों पर प्रशासन कार्रवाई करेगा। मंदिरों में भी नाइट कर्फ्यू के बाद बदलाव किया गया है। श्री बांकेबिहारीजी के दर्शन के लिए अब ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराना होगा। इसके अलावा मंदिर में सिर्फ पांच श्रद्धालुओं को ही एक साथ प्रवेश की अनुमति मिलेगी। यह व्यवस्था सोमवार से प्रभावी कर दी गई है। नाइट कर्फ्यू के बाद इसी तरह जिले के अन्य मंदिरों में बदलाव किया गया है।

रात्रि 9 से पहले ही मंदिर से किया जाएगा बाहर

श्रीबांकेबिहारी मंदिर में दर्शन रात 9:30 बजे तक हैं। ऐसे में श्रीबांकेबिहारी के भक्तों को अब रात के कर्फ्यू के चलते रात नौ बजे से पहले ही मंदिर छोड़ना होगा। जिससे कर्फ्यू समय से पहले आश्रम, होटल आदि ठहरने के स्थान पर पहुंचा जा सके।

श्रीकृष्ण जन्म स्थान के पट रात्रि आठ बजे बंद

नाइट कर्फ्यू के बाद श्रीकृष्ण जन्मस्थान दर्शन के समय में बदलाव किया गया है। श्रीकृष्ण जन्मस्थान सेवा संस्थान के विशेष कार्याधिकारी विजय बहादुर के अनुसार मंदिर के पट अब रात्रि 8 बजे बंद कर दिए जाएंगे। पहले दर्शन 9 बजे तक हुआ करते थे।

द्वारिकाधीश में भी बदलाव हो सकता है

द्वारिकाधीश मंदिर प्रबंधन भी मंदिर की व्यवस्थाओं में बदलाव करने जा रहा है। मंदिर के मीडिया प्रभारी राकेश तिवारी एडवोकेट के अनुसार रात्रि कर्फ्यू में 9 से प्रात: 6 बजे तक का समय दिया गया है। मंदिर ठाकुर द्वारिकाधीश में मंगला के दर्शन प्रात: 6:30 से 7 बजे तक खुलते हैं। इसलिए इस कर्फ्यू और महामारी की वजह से मंदिर प्रबंध तंत्र मंदिर के गोस्वामी जी से विचार-विमर्श कर आगामी दर्शन के समय में परिवर्तन करने के लिए विचार कर रहा है।


दर्शन समय का बदलाव

प्राचीन केशवदेव मंदिर में भी मंदिर के दर्शन के समय में बदलाव कर दिया गया है। मंदिर प्रबंध कमेटी के अध्यक्ष सोहनलाल शर्मा ने बताया कि मंदिर की सुबह 5:30 पर होने वाली आरती 6:15 बजे होगी। जबकि शाम 8:30 बजे मंदिर में शयन आरती के बाद मंदिर के पट बंद कर दिए जाएंगे।

गिरिराज जी की सप्तकोसीय परिक्रमा बंद

कोरोना महामारी के कारण जनपद में नाइट कर्फ्यू लगने के कारण गोवर्धन में गिरिराज महाराज की सप्तकोसीय परिक्रमा एवं मंदिर रात्रि 9 बजे से प्रात: 6 बजे तक बंद रहेंगे। गिरिराज महाराज की नगरी गोवर्धन, राधाकुंड, जतीपुरा एवं बरसाना का राधारानी मंदिर रात्रि 9 बजे से प्रात: 6 बजे तक बंद रहेंगे। इसके अलावा गिरिराज महाराज की परिक्रमा देने वाले श्रद्धालुओं को भी रात्रि 9 बजे से 6 बजे तक नाइट कर्फ्यू होने के कारण परिक्रमा करने पर पाबंदी की गई है। गोवर्धन एसडीएम राहुल यादव ने सभी से अपील की है कि रात्रि के समय लोग घर से न निकलें तथा मास्क एवं दूरी अवश्य बनाए रखें।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x