मोदी का राष्ट्र के नाम छठा संबोधन / पीएम मोदी ने कहा- दीपावली-छठ पूजा यानी नवंबर तक 80 करोड़ लोगों को हर महीने 5 किलो गेहूं या चावल और 1 किलो चना मुफ्त दिया जाएगा

  • पीएम मोदी ने देश को कर रहे संबोधित
  • देश में एक जुलाई से अनलॉक -2 होगा लागू
  • कोरोना वायरस (COVID-19) के खिलाफ जारी जंग में सतर्क रहने को कहा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोरोना लॉकडाउन के बाद से लगातार देश को संबोधित कर रहे हैं। आज एकबार फिर उनका राष्ट्र के नाम संबोधन हुआ। पीएम मोदी ने राष्ट्र के नाम अपने संबोधन के दौरान देश के 80 करोड़ लोगों को नवंबर महीने तक मुफ्त अनाज देने की घोषणा की।

प्रधानमंत्री कार्यलय ने कल देर रात पीएम मोदी के राष्ट्र के नाम संबोधन की जानकारी दी थी। गृह मंत्री अमित शाह ने भी ट्वीट कर लोगों से संबोधन सुनने की अपील की थी।

पीएम मोदी ने देश को संबोधित करत हुए गरीबों को नवंबर तक पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत 80 करोड़ लोगों मुफ्त राशन मुहैया कराने की घोषणा की।

पीएम मोदी ने कहा कि त्योहारों का समय खर्च भी बढ़ाता है। फैसला लिया गया है कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का विस्तार अब दिवाली और छठ पूजा तक, यानी नवंबर के आखिरी तक कर दिया जाएगा।

प्रत्येक परिवार को हर महीने पांच किलो गेहूं या चावल औऱ एक किलो चना दिया जाएगा। इसमें 90 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा खर्च होंगे।

पिछले महीने का खर्च भी जोड़ दें तो करीब 1.5 लाख करोड़ हो जाता है। पीएम मोदी ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान, नियमों का सख्ती से पालन किया जाता था।

अब सरकार, स्थानीय प्रशासन और नागरिकों को फिर से इसी तरह की सावधानी दिखानी होगी। हमें कंटेनमेंट जेन पर विशेष ध्‍यान देने की आवश्‍यकता है। यदि आप किसी को मानदंडों का उल्लंघन हुए देखते हैं, तो उन्हें ऐसा न करने के लिए कहें।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का राष्ट्र के नाम संबोधन की अहम बातें:

> मैं आप सब से प्रार्थना करता हूं, आपके लिए भी प्रार्थना करता हूं, आपसे आग्रह भी करता हूं, आप सभी स्वस्थ रहिए, दो गज की दूरी का पालन करते रहिए, गमछा, फेस कवर, मास्क ये हमेशा उपयोग कीजिये, कोई लापरवाही मत बरतिए: पीएम मोदी

04:36 PM

देश के हर किसान, हर टैक्सपेयर का ह्रदय से बहुत-बहुत अभिनंदन- पीएम मोदी

पीएम मोदी ने कहा कि आपने ईमानदारी से टैक्स भरा है। अपना दायित्व निभाया है इसलिए आज देश का गरीब, इतने बड़े संकट से मुकाबला कर पा रहा है। मैं आज हर गरीब के साथ, देश के हर किसान, हर टैक्सपेयर का ह्रदय से बहुत-बहुत अभिनंदन करता हूं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज देश को संबोधित किया और अपने भाषण में कई अहम बातों का जिक्र किया है. उन्होंने कहा कि कोरोना के संकटकाल में भारत की स्थिति काफी बेहतर है लेकिन आज जब हमें ज्यादा सतर्कता की जरूरत है तो लापरवाही बढ़ना बहुत ही चिंता की बात है. हम अनलॉक के दौर में प्रवेश कर रहे हैं.

4:27 PM IST | 30 JUN 2020
प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के इस विस्तार में 90 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा खर्च होंगे और अगर इसमें पिछले तीन महीने का खर्च भी जोड़ दें तो ये करीब-करीब डेढ़ लाख करोड़ रुपए हो जाता है. अब पूरे भारत के लिए एक राशन-कार्ड की व्यवस्था भी हो रही है यानि वन नेशन वन राशन कार्ड का सबसे बड़ा लाभ उन गरीब लोगों को मिलेगा, जो रोज़गार या दूसरी आवश्यकताओं के लिए अपना गाँव छोड़कर के कहीं और जाते हैं.

4:25 PM IST | 30 JUN 2020
पीएम मोदी ने कहा कि त्योहारों का ये समय, जरूरतें भी बढ़ाता है, खर्चे भी बढ़ाता है और इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए ये फैसला लिया गया है कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का विस्तार अब दीवाली और छठ पूजा तक, यानि नवंबर महीने के आखिर तक कर दिया जाए.

4:23 PM IST | 30 JUN 2020
पीएम मोदी ने कहा कि हमारे यहां वर्षा ऋतु के दौरान और उसके बाद मुख्य तौर पर एग्रीकल्चर सेक्टर में ही ज्यादा काम होता है. अन्य दूसरे सेक्टरों में थोड़ी सुस्ती रहती है. जुलाई से धीरे-धीरे त्योहारों का भी माहौल बनने लगता है और देश में आने वाले समय में ढेर सारे त्योहार आने वाले हैं. 5 जुलाई को गुरू पूर्णिमा है और कुछ समय बाद गणेशोत्सव आने वाला है. दशहरा, दीवाली जैसे अनेक त्योहार आने वाले हैं.

4:21 PM IST | 30 JUN 2020
पीएम मोदी ने कहा कि एक तरह से देखें तो अमेरिका की कुल जनसंख्या से ढाई गुना अधिक लोगों को, ब्रिटेन की जनसंख्या से 12 गुना अधिक लोगों को और यूरोपियन यूनियन की आबादी से लगभग दोगुने से ज्यादा लोगों को हमारी सरकार ने मुफ्त अनाज दिया है और अब इस व्यवस्था को नवंबर के अंत तक जारी रखा जा रहा है.

4:19 PM IST | 30 JUN 2020
पीएम मोदी ने कहा कि बीते तीन महीनों में 20 करोड़ गरीब परिवारों के जनधन खातों में सीधे 31 हजार करोड़ रुपए जमा करवाए गए हैं और इस दौरान 9 करोड़ से अधिक किसानों के बैंक खातों में 18 हजार करोड़ रुपए जमा हुए हैं. सरकार ने पूरी व्यवस्था की है कि जिससे गरीबों और वंचितों को इस कोरोना संकटकाल में परेशानी न हो.

4:16 PM IST | 30 JUN 2020
पीएम मोदी ने कहा कि देश हो या व्यक्ति, समय पर फैसले लेने से, संवेदनशीलता से फैसले लेने से, किसी भी संकट का मुकाबला करने की शक्ति बढ़ जाती है, इसलिए, लॉकडाउन होते ही सरकार, प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना लेकर आई और अब इसे नवंबर तक बढ़ाया जा रहा है. इसके तहत देश के 80 करोड़ लोगों को खाद्य की दिक्कत न हो इसकी व्यवस्था की जा रही है.

4:15 PM IST | 30 JUN 2020
पीएम मोदी ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान देश की सर्वोच्च प्राथमिकता रही कि ऐसी स्थिति न आए कि किसी गरीब के घर में चूल्हा न जले. केंद्र सरकार हो, राज्य सरकारें हों, सिविल सोसायटी के लोग हों, सभी ने पूरा प्रयास किया कि इतने बड़े देश में हमारा कोई गरीब भाई-बहन भूखा न सोए.

4:09 PM IST | 30 JUN 2020
पीएम मोदी ने कहा कि इस समय जो लापरवाही कर रहे हैं वो ये नहीं समझ रहे हैं कि वो कोरोना के खिलाफ लड़ाई को कमजोर कर रहे हैं, ऐसे लोगों को लापरवाही करने से रोकना होगा और नियमों का पालन कराना होगा.

4:08 PM IST | 30 JUN 2020
पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना वैश्विक महामारी के खिलाफ लड़ते हुए अब हम अनलॉक -2 में प्रवेश कर रहे हैं और हम उस मौसम में भी प्रवेश कर रहे हैं जहां सर्दी-जुखाम, खांसी-बुखार के मामले बढ़ जाते हैं. अगर कोरोना से होने वाली मृत्यु दर को देखें तो दुनिया के अनेक देशों की तुलना में भारत संभली हुई स्थिति में है. समय पर किए गए लॉकडाउन और अन्य फैसलों ने भारत में लाखों लोगों का जीवन बचाया है.

4:04 PM IST | 30 JUN 2020
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के नाम अपने संबोधन की शुरुआत में कहा कि कोरोना के संकटकाल में भारत की स्थिति काफी बेहतर है लेकिन आज जब हमें ज्यादा सतर्कता की जरूरत है तो लापरवाही बढ़ना बहुत ही चिंता की बात है. हम अनलॉक के दौर में प्रवेश कर रहे हैं.

3:50 PM IST | 30 JUN 2020
सूत्रों के हवाले से जानकारी मिली है कि पीएम मोदी आज कोरोना संकट और चीन सीमा विवाद दोनों पर बात कर सकते हैं. इसके अलावा वो और कौन सी बातों पर बोलेंगे इसपर पूरे देश की नजर है.

3:46 PM IST | 30 JUN 2020
जैसे कि आशंका जताई जा चुकी है कि कोरोना का संक्रमण जुलाई-अगस्त में अपने पीक पर पहुंच सकता है और इसको लेकर भी पीएम मोदी कुछ बड़े निर्देश दे सकते हैं, ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है. केवल 15 मिनट बाद पीएम मोदी देश को संबोधित करेंगे.

3:33 PM IST | 30 JUN 2020
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संबोधन से पहले राहुल गांधी ने उनपर निशाना साधा है और कहा है कि सरकार न्याय योजना को तुरंत लागू करे और गरीबों के खाते में फौरन 7500 रुपये डालें. उन्होंने पीएम मोदी से फिर सवाल पूछा है कि क्या चीन ने भारत की पवित्र जमीन पर कब्जा किया है तो इसके बारे में देश को बताएं.

3:27 PM IST | 30 JUN 2020
पीएम मोदी कोरोना काल में इससे पहले भी देश को कई बार संबोधित कर चुके हैं. सबसे पहले 19 मार्च को उन्होंने कोरोना संकट को लेकर देश को संबोधित किया था और उस दिन 22 मार्च को जनता कर्फ्यू का एलान किया था. इसके बाद 24 मार्च की रात 8 बजे देश में पूर्ण लॉकडाउन का एलान किया था जो 25 मार्च से 14 अप्रैल तक के लिए था.

3:22 PM IST | 30 JUN 2020
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज एक उच्च स्तरीय बैठक ली जिसमें उन्होंने कोविड-19 की वैक्सीन से जुड़े सभी अपडेट्स लिए और जानकारी ली कि भारत में इसको लेकर क्या प्रगति चल रही है.

3:01 PM IST | 30 JUN 2020
देश के नाम संबोधन से पहले पीएम मोदी इस वक्त दिल्ली में कोरोना वायरस के टीके को लेकर की जा रही तैयारियों की समीक्षा करने के लिए एक उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता कर रहे हैं.

2:48 PM IST | 30 JUN 2020

 


बता दें कि देश की सुरक्षा पर खतरे वाले चीनी ऐप्स पर सरकार ने एक्शन शुरु कर दिया है. टिकटॉक समेत 59 चीनी ऐप्स पर कल बैन लगा दिया गया है. चीन के 59 ऐप पर तो पहले ही पाबंदी लग चुकी है. चीन के दूसरे ऐप पर भी बैन की तलवार लटकी हुई है. ऐसे में आज पीएम मोदी का संबोधन काफी महत्वपूर्ण है.

प्रधानमंत्री कार्यालय ने सोमवार को ट्वीट कर पीएम मोदी के संबोधन की जानकारी दी थी. पीएम के संबोधन से पहले भारत सरकार ने चीन को सबक सिखाते हुए उसके 59 ऐप्स को देश में बैन किया है. वहीं मोदी के देश के संबोधन से पहले आज सुबह से भारतीय सरज़मीन पर चीन के साथ सीमा पर गतिरोध कम करने के लिए बातचीत भी जारी है. कोरोना काल में इससे पहले पांच बार पीएम मोदी देश को संबोधित कर चुके हैं.

इससे पहले उन्होंने 12 मई को राष्ट्र को संबोधित किया था. इसमें उन्होंने 20 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज का ऐलान किया था. वहीं इससे पहले के अपने संबोधनों में पीएम ने लॉकडाउन के लागू करने का ऐलान और उसके विस्तार पर चर्चा की थी. लेकिन इस बार पीएम मोदी का संबोधन कई मायनों में काफी महत्वपू्र्ण माना जा रहा है.

रविवार को प्रधानमंत्री ने अपने मासिक “मन की बात” संबोधन में चीन को करारा जवाब देने की बात कही थी. अपने इस संबोधन में भी मोदी ने कोरोना के खिलाफ लोगों को सावधानी बरतने को कहा था. इस दौरान उन्होंने एक बार फिर देशवासियों को दो गज दूरी का सख्ती से पालन करने की हिदायत दी थी.

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x