आंध्र प्रदेश में हनुमान शोभा यात्रा पर मुस्लिम भीड़ का हमला,मूर्ति पर शराब की बोतलें फेंकी!

भारतीय जनता पार्टी ने मंगलवार (26 अप्रैल, 2022) को आंध्र प्रदेश के नेल्लोर में रविवार (24 अप्रैल, 2022) को हनुमान शोभा यात्रा पर हमला करने वाले बदमाशों के खिलाफ ‘बुलडोजर न्याय’ की माँग की। इस घटना को लेकर वाईएस जगन मोहन रेड्डी के नेतृत्व वाली सरकार की आलोचना करते हुए, भाजपा के राष्ट्रीय सचिव और आंध्र प्रदेश के सह-प्रभारी सुनील देवधर ने कहा कि राज्य के मुख्यमंत्री लंबे समय से हिंदुओं और भाजपा के धैर्य की परीक्षा ले रहे हैं।

उन्होंने ट्विटर पर लिखा, “हिंदुओं ने कल नेल्लोर में भयावह स्थिति देखी जब ‘हनुमान शोभा यात्रा’ पर अवैध मस्जिद से पथराव हुआ और मूर्ति पर शराब की बोतल फेंकी गई! यह शर्मनाक है! जगन मोहन रेड्डी, आप कब तक हिंदुओं के धैर्य की परीक्षा लेते रहेंगे? आंध्र प्रदेश #BulldozerJustice की जरूरत है।” ट्वीट में उन्होंने गृह मंत्रालय को भी टैग किया है।

इसके साथ ही MLC वाकाती नारायण रेड्डी ने भी मंगलवार ट्विटर पर कहा कि नेल्लोर शहर में जब हनुमान जयंती जुलूस नेल्लोर जिला कोर्ट रोड से शांतिपूर्वक गुजर रहा था तो मस्जिद के युवाओं ने भद्दे इशारे किए। उन्होंने आरोप लगाया कि मस्जिद परिसर के कुछ लोगों ने जुलूस में शामिल लोगों को भड़काने की कोशिश की।

सोशल मीडिया पर वीडियो शेयर करते हुए, उन्होंने उपद्रवियों द्वारा लगाए गए इस्लामी नारे और जुलूस के दौरान शांति भंग करने के उनके कृत्य पर प्रकाश डाला। उन्होंने ट्विटर पर स्थानीय भाषा में लिखा था, “ये दूसरी तरफ से किए गए नारे थे जब जुलूस शांतिपूर्ण ढंग से गुजर रहा था। हिंदुओं के देश में हमारे हिंदुओं की यही स्थिति है। उन्हें प्रताड़ित किया जाता है। अब अगर हम शांति और धर्मनिरपेक्षता पर विचार करें तो हम सड़कों पर चल भी नहीं पाएँगे। यह दुनिया को यह बताने का समय है कि हमारा देश एक हिंदू देश है।”

सोशल मीडिया पर वीडियो शेयर करते हुए, उन्होंने उपद्रवियों द्वारा लगाए गए इस्लामी नारे और जुलूस के दौरान शांति भंग करने के उनके कृत्य पर प्रकाश डाला। उन्होंने ट्विटर पर स्थानीय भाषा में लिखा था, “ये दूसरी तरफ से किए गए नारे थे जब जुलूस शांतिपूर्ण ढंग से गुजर रहा था। हिंदुओं के देश में हमारे हिंदुओं की यही स्थिति है। उन्हें प्रताड़ित किया जाता है। अब अगर हम शांति और धर्मनिरपेक्षता पर विचार करें तो हम सड़कों पर चल भी नहीं पाएँगे। यह दुनिया को यह बताने का समय है कि हमारा देश एक हिंदू देश है।”

आंध्र प्रदेश के नेल्लोर में हनुमान जुलूस पर हमला

रिपोर्ट्स के मुताबिक, नेल्लोर शहर में हनुमान जयंती जुलूस की शुरुआत टीटीडी कल्याण मंडपम से स्टोनहाउस पेट एरिया तक की गई। शांतिपूर्ण जुलूस में 15,000 से अधिक हिंदुओं ने भाग लिया था। जुलूस जब शांतिपूर्ण तरीके से जिला कोर्ट रोड से गुजर रहा था तो पास की मस्जिद के मुस्लिम भीड़ ने पत्थर और काँच की बोतलों से जुलूस पर हमला कर दिया।

मुस्लिम भीड़ ने भगवान हनुमान की प्रतिमा पर शराब की बोतलें भी फेंकी। उन्होंने भद्दे इशारे किए और जुलूस में इस्लामी नारे लगाए। भाजपा के राष्ट्रीय सचिव और आंध्र प्रदेश के सह-प्रभारी सुनील देवधर ने 26 अप्रैल को यह भी कहा कि नेल्लोर जिला न्यायालय के पास बनी मस्जिद अवैध थी और राज्य सरकार को अवैध निर्माण पर रोक लगानी चाहिए। उन्होंने हाल ही में दिल्ली के जहाँगीरपुरी और मध्य प्रदेश और गुजरात जैसे अन्य राज्यों में हुए अतिक्रमण विरोधी अभियान का उल्लेख किया और कहा कि सांप्रदायिक झड़पों में शामिल लोगों के घरों और संपत्तियों को गिरा दिया जाना चाहिए।

साथ ही, MLC रेड्डी ने उल्लेख किया कि जिस जमीन पर मस्जिद खड़ी थी वह लोक निर्माण विभाग की थी और कुछ साल पहले उस पर कब्जा कर लिया गया था। रिपोर्ट्स के मुताबिक, हाई कोर्ट ने चार साल पहले बेदखली का आदेश दिया था, लेकिन अधिकारी अभी तक निर्देशों को लागू करने में विफल रहे हैं। रेड्डी ने चेतावनी दी कि अगर ऐसी घटना दोबारा हुई तो हिंदू चुप नहीं रहेंगे। उन्होंने कहा कि वह शहर में असामाजिक तत्वों के खिलाफ अदालत में अवमानना ​​याचिका दायर करेंगे। इस बीच भाजपा ने इस घटना पर गंभीर आपत्ति जताई है और जिला कलेक्टर को एक ज्ञापन सौंपा है जिसमें शहर में सांप्रदायिक सद्भाव बनाए रखने के लिए कहा गया है।

Sach ki Dastak

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x