मेरे देश की हिंदी इंग्लिश बोले…..

मेरे देश की हिंदी इंग्लिश बोले…
_____________________

मेरे देश की हिंदी इंग्लिश बोले
बोले अंग्रेजी, अमेरिकन, हिंग्लिश
हाय! मेरे देश की हिन्दी

भैंस बन गयी बफैलो
बंदर बन गये मंकी
जो इंग्लिश ना जाने
कहलावे क्यों डंकी?

हाय! मेरे देश की हिंदी

हिंदी के प्रोफेसर
अंग्रेजी अखबार हैं पढ़ते
उनके दो बच्चे
लंदन में हैं पढ़ते

हाय! मेरी देश की हिन्दी

मेरे देश की संसद में
नेता हिंदी ना पढ़ पाते
मुझे हिंदी नहीं है आती
यह कहते हुए नहीं लजाते

हाय! मेरे देश की हिंदी

पापा को डेड कर दिया
माँ को कर दिया मोम
इंग्लिश में क्यों होते हैं
देश के सारे शोध?

हाय! मेरे देश की हिंदी

कोर्ट में इंग्लिश चले
तो ना होती हैरानी
पर आजकल तो
प्रवचन भी बाबा
इंग्लिश में करें

हाय! मेरे देश की हिंदी

हिंदी साहित्य किताबें
चाट पकौड़ी भेंट चढ़ें
अग्रेजीं साहित्य किताबें
हमारी सैलरी भी कम पड़े

हाय! मेरे देश की हिंदी

आज कलम बनीं अगुलियां
कागज बना सोसलमीडिया
लेखक बन गया पूरा देश
पाठक करे लाईक कमेन्ट्स
हिंग्लिश का है शोर ही शोर
हाय! मेरे देश की हिंदी….!!

 

-ब्लॉगर आकांक्षा सक्सेना, न्यूज ऐडीटर सच की दस्तक राष्ट्रीय मासिक पत्रिका वाराणसी उत्तर प्रदेश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *