अब भारत में बनेंगे अमेरिकी F-21 लड़ाकू विमान-

अमेरिका के अत्याधुनिक लड़ाकू विमान F-21 अब भारत में बनेंगे। ‘मेक इन इंडिया’ मिशन के तहत इनका उत्पादन किया जाएगा।

इन विमानों को विशेष तौर पर भारतीय वायुसेना की जरूरतों को ध्यान में रखकर तैयार किया गया है। आइये जानते हैं क्या है इस फाइटर जेट की खूबी और इसके भारत में निर्माण के फायदे।

अत्याधुनिक F-21 लड़ाकू विमानों का भारत में उत्पादन करने की घोषणा अमेरिकी रक्षा एवं एयरोस्पेस कंपनी लॉकहीड मार्टिन ने की है। कंपनी ने ये घोषणा बुधवार को बेंगलुरू में आयोजित ‘एयरो इंडिया 2019’ शो के पहले दिन की है। इस शो में कंपनी ने अपने F-21 फाइटर जेट का प्रदर्शन भी किया है।

इस दौरान कंपनी ने बताया कि उन्होंने इस विमान को विशेष तौर पर भारतीय वायुसेना के लिए डिजाइन किया है।जानकारों के अनुसार अमेरिकी कंपनी इस घोषणा के जरिए अरबों डॉलर के भारतीय सैन्य ऑर्डर पर नजर जमाए हुए है।

पुलवामा में सीआरपीएफ काफिले पर हुए आतंकी हमले के बाद जिस-तरह से भारत-पाक के बीच तनावपूर्ण स्थिति है और भारत में फ्रांस के राफेल विमानों को लेकर लंबे समय से विवाद चल रहा है, कंपनी ने एक सोची-समझी रणनीति के तहत इन विमानों का उत्पादन भारत में करने की घोषणा की है।

यही वजह है कि कंपनी ने भारत में इनके निर्माण की घोषणा के साथ कहा है कि ये विमान अत्याधुनिक वायु शक्ति के साथ भविष्य में भारत को मजबूत करेगी।

कंपनी के अनुसार भारत के लिए लॉकहीड मार्टिन और टाटा एडवांस्ड सिस्टम द्वारा एफ-21 लड़ाकू विमानों का निर्माण भारत में किया जाएगा। लॉकहीड मार्टिन कंपनी ने इससे पहले भी भारत को एफ-16 लड़ाकू विमान बेचने की पेशकश की थी।

अब कंपनी का दावा है कि एफ-21 लड़ाकू विमान भारतीय वायुसेना को विश्व के सबसे बड़े लड़ाकू विमान तंत्र से जोड़ेगा। रक्षा क्षेत्र की यह अमेरिकी कंपनी F-16 युद्धक विमान भारत को ऑफर कर चुकी है, जिसका इस्तेमाल दुनियाभर की सेनाएं कर रही हैं।

लॉहीड मार्टिन एयरोनॉटिक्स कंपनी के विजनेस डवलपमेंट और स्ट्रेटजी विभाग के उपाध्यक्ष डॉ विवेक लाल का दावा है कि एफ-21 फाइटर जेट विमान बिल्कुल अलग हैं।

ये एकदम नया, अत्याधुनिक और युद्ध के दौरान की विभिन्न जरूरतों से सुसज्जित है। साथ ही एफ-21 का ‘मेक इन इंडिया, प्रोजेक्ट के तहत निर्माण करना, भारत के लिए बेमिसाल औद्योगिक अवसर भी उपलब्ध कराएगा। साथ ही भारत-अमेरिका की सैन्य सहयोग की घनिष्ठता को और मजबूत करेगा।

बताया जा रहा है कि भारत सरकार अगले कुछ वर्षों में वायुसेना की जरूरतों को पूरा करने के लिए तकरीबन 15 अरब डॉलर के युद्ध विमान खरीदने जा रही है।

भारतीय वायुसेना के लिए 114 विमान भारत में बनाए जाने हैं। इसीलिए अमेरिकी कंपनी ने F-21 फाइटर जेट के भारत में निर्माण की घोषणा की है। 

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x