ऑनलाइन एफआईआर प्रणाली हो मजबूत-गृहमंत्री राजनाथ सिंह

रेल मंत्रालय ने आज विज्ञान भवन, नई दिल्ली में रेलवे सुरक्षा के बारे में अखिल भारतीय सम्मेलन का आयोजन किया गया। गृहमंत्री राजनाथ सिंह, रेल और कोयला मंत्री पीयूष गोयल, संचार और रेल राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) मनोज सिन्हा, रेलवे बोर्ड के चेयरमैन विनोद कुमार यादव, गृह सचिव राजीव गोबा, सम्मेलन के उद्घाटन सत्र में उपस्थित थे। आरपीएफ के महानिदेशक अरुण कुमार, आईपीएस ने गणमान्य व्यक्तियों और प्रतिभागियों का स्वागत किया।

इस अवसर पर गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि आज के सम्मेलन का उद्देश्य बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि यह हमें रेलवे सुरक्षा तंत्र की सुरक्षा की तैयारियों की पहचान और समीक्षा करने का अवसर प्रदान कर रहा है। इससे यह भी पता चलेगा कि हमारे सुरक्षा बल यात्रियों की कितनी बेहतर सेवा कर सकते हैं।

उन्होंने सुझाव दिया कि अपराधों को रोकने में मदद के लिए ऑनलाइन एफआईआर प्रणाली का पता लगाने की जरूरत है, इससे जांच में तेजी लाने में मदद मिलेगी। उन्होंने सम्मेलन के प्रतिभागियों से अनुरोध किया कि नियमित गस्त, तलाशी लेने में सुधार और आपात स्थिति में सावधान करने जैसे मुद्दों पर विचार किया जाए।

रेल और कोयला मंत्री पीयूष गोयल ने इस अवसर पर किसी भी स्थिति में देश की सेवा करने में बहादुरी और साहस का प्रदर्शन करने के लिए अर्द्धसैनिक बलों को बधाई दी।

उन्होंने यात्रा करते समय यात्रियों में आत्मविश्वास बढ़ाने की जरूरत पर जोर दिया और आरपीएफ के लोगों से यात्रियों के साथ मित्रवत व्यवहार करने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि स्टेशनों के लिए 6 हजार सीसीटीवी कैमरे खरीदे जा रहे हैं और साइबर अपराध कक्षों को क्रियात्मक बनाया जा रहा है।

उन्होंने यह भी कहा कि रेल यात्रा को सबसे सुरक्षित बनाने के लिए ठोस प्रयास किए जाने चाहिए और अपराधों को घटित न होने देने का लक्ष्य प्राप्त करने का इच्छामूलक लक्ष्य होना चाहिए।

संचार और रेलराज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) मनोज सिन्हा ने कहा कि पिछले वर्षों के दौरान आरपीएफ के कार्यप्रदर्शन, यात्रियों के साथ मित्रवत व्यवहार और संवेदनशीलता के बारे में महत्वपूर्ण परिवर्तन आया है। उन्होंने कहा कि सुरक्षा बलों की तकनीकी प्रगति को बढ़ावा देना समय की जरूरत है।

रेलवे बोर्ड के चैयरमैन विनोद कुमार यादव ने पूरे नेटवर्क में रेलवे सुरक्षा बल द्वारा किए जा रहे विशिष्ट कार्यों की सराहना की। आरपीएफ के महानिदेशक अरुण कुमार ने गणमान्य व्यक्तियों को संबोधित करते हुए रेलवे प्रणाली और यात्रियों की सुरक्षा से संबंधित विभिन्न मुद्दों पर विचारों को साझा किया।

इस सम्मेलन में 23 राज्यों और दो केन्द्र शासित राज्यों के पुलिस प्रमुखों और वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने प्रतिनिधि के रूप में भाग लिया।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x