नशामुक्ति पहल : दृढ़ इच्छाशक्ति से ही तंबाकू सेवन से मिल सकती है मुक्ति ✍️ के.के श्रीवास्तव

सच की दस्तक की तरफ से नशामुक्ति संगोष्ठी का सफल आयोजन-

विश्व तंबाकू निषेध दिवस पर राष्ट्रीय मासिक पत्रिका सच की दस्तक की तरफ से जागरूकता के लिए एक संगोष्ठी का आयोजन शुक्रवार को पंडित दीनदयाल उपाध्याय नगर स्थित नगर पालिका इंटर कॉलेज के सभागार में किया गया।

 

इस संगोष्ठी में मुख्य अतिथि प्रसिद्ध रंगकर्मी केके श्रीवास्तव ने कहा कि वर्तमान समय में तंबाकू से कैंसर जैसी बीमारी होती है ।केवल दृढ़ इच्छाशक्ति द्वारा ही इसे रोका जा सकता है ।यदि इच्छाशक्ति नहीं है तो लाख प्रयास के बाद भी इसके सेवन से मुक्ति नहीं मिल सकती । युवाओं को नशे से दूर रहने की आवश्यकता है।

वही गायत्री परिवार के हरिहर शर्मा ने कहा कि पारिवारिक स्थिति भी इसके लिए जिम्मेदार होती है। यदि अभिभावक ने अपने बच्चों को अच्छे संस्कार दिए हैं और स्वयं भी अच्छे संस्कार रखते हैं तो पीढ़ी भी अच्छी होगी ।
सच की दस्तक की यह पहल सराहनीय है ।

 

वहीं समाजसेवी पत्रकार राजीव गुप्ता ने कहा कि विश्व तंबाकू निषेध दिवस पर नशा मुक्ति के लिए संकल्पित होना होगा और इसे आंदोलन का रूप देना होगा ।

संगोष्ठी में भाग लेते हुए दन्त चिकित्सक डॉ प्रभाकर व डॉ विद्या सागर चौधरी ने विस्तारपूर्वक तंबाकू से मुंह के कैंसर पर अपना व्याख्यान प्रस्तुत किया।


संगोष्ठी को अशोक त्रिपाठी, सच की दस्तक पत्रिका के प्रसार प्रभारी अशोक सैनी, भागवत नारायण चौरसिया ने भी संबोधित किया ।

कार्यक्रम की शुरूआत प्रदीप जी द्वारा गायत्री मंत्र व विद्या की आराध्य देवी मां सरस्वती के  चित्र पर माल्यार्पण के साथ हुआ।

कार्यक्रम का समापन तंबाकू व अन्य नशा न करने की शपथ के साथ सम्पन्न हुआ ।


इस अवसर पर खेल संपादक मनोज उपाध्याय ने आगन्तुकों को स्मृति चिन्ह दे कर सम्मनित किया।

इस अवसर पर विजय कुमार, अजय सिंह, विनीत, सत्यम तिवारी, अजय राय, कालिदास, राजेन्द्र प्रकाश, नारायण इंदर सिंह कुशवाहा, आदि लोग उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन सच की दस्तक पत्रिका के संपादक बृजेश कुमार ने किया। 

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x