पानी छोड़ने को लेकर किसानों ने किया प्रदर्शन

 धान की सूख रही फसल से मर्माहत देवखत गांव के किसान क्षुब्ध होकर कर्मनाशा लिफ्ट कैनाल में पानी छोड़े जाने की मांग को लेकर चन्द्रकान्ता किला के समीप टयूबेल पर दर्जनो की संख्या मे शनिवार को पहुंच कर प्रदर्शन करके आक्रोश का इजहार किया।
इस बारे में बताया जाता है कि चन्द्रकान्ता किला के समीप कोठी घाट पर कर्मनाशा नदी मे लगाए गये लिफ्ट से क्षेत्र के आठ गांवो देवखत सेमरां कुसही सेमरा आराजी बिन्द्रावन अमृतपुर मलेवर मलेरिया कर्माबांध मे सिंचाई सुविधा मुहैया कराने के लिए विन्द्रावन बंधी मे पाईप लाईन से पानी छोड़े जाने का प्रावधान निर्धारित है। ग्रामीणों का कहना है कि लघु सिंचाई डाल विभाग के कर्मियो की ब्याप्त मनमानी से आपरेटर पंप को नहीं चला पा रहा है जिससे सिंचाई के अभाव में धान की फसल एकदम सूखने के कगार पर पहुंच गई है। जिसे यथाशीघ्र नहीं चलाया गया तो दो दिनो के बाद लिफ्ट कैनाल पर मौजूद आपरेटर को बंधक बनाया जायेगा। जिसकी रिहायी अधिशासी अभियंता लघु डाल के मौके पर पहुंचने के बाद ही संभव हो जाएगी।
अवर अभियंता लघु सिंचाई डाल को एक किसान ने मोबाइल पर समस्या से अवगत कराया तो जवाब मिला कि बिजली का कम बोल्टेज मिलने से मोटर पंप नहीं चल पा रहा है। जिसको कम बोल्टेज पर चलाने का पूर्व मे प्रयास किया गया था तो हजारो रूप की केबिल जल गयी। अब नयी केबिल तार को मंगा कर मोटर पंप को अपडेट रखा गया है। सही बोल्टेज की आपूर्ति किए जाने के लिए बिजली विभाग को पत्र भी प्रेषित किया गया है। सही बोल्टेज की बिजली उपलब्ध होते ही पानी की आपूर्ति सुचा रूप से शुरू करा दी जाएगी।
प्रदर्शन करने वाले मे राजनाथ सुदामा विमला मुराली अमरनाथ सालिक मुराहू लालमनी श्रीनाथ रामवृक्ष विमल सुभाष चन्द्रिका कोमल रामपाल शामिल रहे।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x