ठायं ठायं के बाद यूपी पुलिस का कारनामा, दारोगा ने किसान की पीठ पर चढ़कर पार की नदी

असलम की विशेष रिपोर्ट

मुरादाबाद,एक तरफ डीजीपी मित्र पुलिस बनाने का दावा कर रहे हैं और सीनियर सिटीजन को थाने में बुलाकर सम्मान दिया जा रहा हैं, वहीं दूसरी तरफ मूंढपांडे थाने में तैनात दारोगा नरेश कुमार की करतूत से खाकी कटघरे में खड़ी हो गई हैं। दारोगा ने जबरन डांट फटकार लगाकर ग्रामीण को नदी में घुसा दिया और उसके कंधों पर खुद बैठकर नदी पार की। मानवता को शर्मसार करने वाली इस घटना का वीडियो वायरल होने पर एसएसपी ने सीओ हाईवे को घटना की जांच शुरू की जिसमें दारोगा के कृत्य की पुष्टि हो गई है।

जूते गीले होने से बचाने के लिए चढ़ा कंधे पर

मूंढापांडे थाने की चौकी रोंडा झौंडा पर तैनात उपनिरीक्षक नरेश कुमार को लालटीकर गांव से राम सिंह की पशुशाला से दो बैल चोरी की विवेचना दी गई थीं। नरेश कुमार विवेचना करने के लिए मंगलवार को गांव के लिए निकल गए। लालटीकर गांव में जाने के लिए चकफेरी गांव के समीप एक नदी को पार करना पड़ता है। नदी पर पुल नहीं है। ऐसे में नाव में बैठकर लोग नदी पार करते हैं। मंगलवार को नाविक मौके पर मौजूद नहीं थे। ऐसे में दारोगा ने उक्त गांव के समी पुत्र मुस्तकीम को जबरन नदी के पानी में घुसने के लिए दबाव बनाया। साथ ही खुद समी के कंधे पर बैठ गए। समी ने दारोगा को नदी पार करा दी। साथ ही दोबारा लौटने तक भी समी को नदी के किनारे बैठने का आदेश दिया गया। समी दारोगा के विवेचना कर लौट आने तक नदी के किनारे बैठा रहा। दारोगा को नदी पार कराने के बाद ही समी वापस घर लौटा।

वीडियो वायरल होने से पुलिस की किरकिरी

दारोगा के समी के कंधों पर बैठकर नदी पार करने ने दौरान ग्रामीण ने मोबाइल से वीडियो बना ली और वायरल कर दी। वीडियो वायरल होने से दारोगा का कृत्य खाकी को शर्मसार कर रहा है। मदद देने वाली खाकी जबरन व्यक्ति से मदद मांगती दिखाई दे रही है। एसएसपी के आदेश पर सीओ हाईवे राजेश कुमार ने मामले की जांच की है। वीडियो में जो दिखाया गया है। सीओ की जांच में वह सत्य पाया है। सीओ ने दारोगा के बयान दर्ज करने के बाद जांच रिपोर्ट कप्तान को भेज दी है।

जांच रिपोर्ट मिलने पर होगी कार्रवाई

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जे रविंदऱ गौड ने कहा है कि दारोगा के नदी पार करने की वीडियो की जांच सीओ हाईवे को दी गई है, जांच रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा है कि वीडियो भी मंगाया गया है ताकि उसकी भी जांच कराई जा सके।

दारोगा की सफाई-पैर में लगी है चोट

दारोगा नरेश कुमार का कहना है कि मैं लालटीकर गांव में पशु चोरी की विवेचना करने जा रहा था। रास्ते में नदी पार करनी पड़ती है। पैर में चोट लगी हुई थी, ऐसे में स्वेच्छा से ग्रामीण की मदद ली गई है। कोई जबरदस्ती नहीं की गई। हालांकि मैं ग्रामीण से कंधे पर बैठाने से मना भी कर रहा था।

ठांय-ठांय करने में भी चर्चा में आई थी यूपी पुलिस

सम्भल में बदमाश के साथ कथित मुठभेड़ के दौरान पिस्टल खराब होने पर दारोगा ने मुंह से ठांय-ठांय की थी। वीडियो वायरल होने पर पुलिस की आलोचना हुई थी। इसके बाद भी एसपी सम्भल ने मुंह से ठांय-ठांय करने वाले दारोगा को पुरस्कृत करने की संस्तुति कर दी थी। यही नहीं गिरफ्चार बदमाश की पत्नी ने घर से गिरप्तार करने का खुलासा करके मुठभे़ड़ पर सवालिया निशान लगा दिया था

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x