प्रभु रामलला टेंट से निकल कर अस्थाई मंदिर में हुए विराजमान

श्री राम जन्मभूमि में विराजमान रामलला अस्थाई मंदिर में शिफ्ट हो गए। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विराजमान रामलला को टेंट से निकाल कर अपनी गोद में बैठाकर अस्थाई मंदिर के रजत सिंहासन में विराजमान कराया। वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ अस्थाई मंदिर में विराजमान रामलला विराजित हुए।

बुधवार को सुबह पांच बजे के करीब अस्थाई मंदिर में रामलला को शिफ्ट किया गया। इस दौरान रामलला की आरती उतारी गई। रामलला के शिफ्टिंग के दौरान कोरोना  से सतर्कता का भी ख्याल रखा गया। इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा पालन किया गया। आरती व पूजन के बाद सीएम योगी गोरखपुर के लिए रवाना हो गए।

इस दौरान राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास, महामंत्री चम्पत राय, ट्रस्ट के सदस्यगण निर्मोही अखाड़ा के महंत दिनेन्द्र दास, अयोध्या राज परिवार के मुखिया विमलेंद्र मोहन प्रताप मिश्र, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रांत कार्यवाह डॉ. अनिल मिश्र, जिलाधिकारी अनुज झा सहित संत व महंत मौजूद रहे। 

मुख्यमंत्री ने रामलला को सौंपा 11 लाख रुपए का चेक

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राम जन्मभूमि में विराजमान रामलला को 11 लाख रुपए  का चेक सौंपा। मुख्यमंत्री श्री योगी ने रामजन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महामंत्री चंपत राय को 11 लाख रुपए का चेक प्रदान किया। मुख्यमंत्री की ओर से प्रदान की गई धनराशि को श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के खाते में जमा कराया जाएगा।

अयोध्या मंदिर निर्माण का कर रही आह्वान : योगी आदित्यनाथ


राम जन्मभूमि में विराजमान रामलला के मूर्ति की शिफ्टिंग के बाद  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रभु श्री राम की नगरी अयोध्या मंदिर निर्माण का आह्वान कर रही है। मुख्यमंत्री श्री योगी ने कहा कि मंदिर निर्माण के मद्देनजर पहला चरण संपन्न हो गया है। मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्रीराम त्रिपाल से नए आसन पर विराजमान हो गए हैं। अब इसके बाद मंदिर निर्माण की दिशा में आगे की प्रक्रिया का श्रीगणेश होगा।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x