बंगाल में तनातनी – शाह को नोटिस, पेंटिग बेच पैसे लिये साबित करें मोदी-ममता


शाह की सभा के बाद हुए हंगामे में 11 गिरफ्तार, दोनों दलों ने एक दूसरे को बताया दोषी-


अमित शाह की सभा के बाद कांथी में हुई हिंसा के मामले में पुलिस ने 11 लोगों को गिरफ्तार किया है। तृणमूल कांग्रेस की ओर से आरोप लगाया गया है कि भाजपा ने हिंसा की शुरुआत की, भाजपा का कहना है कि चुनाव आयुक्त को इस बारे में सूचित किया जाएगा। शाह की सभा के बाद कांथी में तनाव फैल गया, आरोप है कि भाजपा समर्थकों ने तृणमूल कांग्रेस के कार्यालय में आग लगा दी, कई वाहनों में आग लगा दी। कांथी थाना पुलिस और कमबैट फोर्स ने हालात को नियंत्रित किया और बताया जाता है कि अब वहां स्थिति नियंत्रण में है।

राज्य के मंत्री शुभेंदु अधिकारी ने आरोप लगाया है कि तृणमूल कार्यकर्ताओं पर भाजपा समर्थकों ने ईंट, बांस, लाठी लेकर हमला किया। इसका नतीजा भाजपा को भुगतना होगा।

आरोप है कि सरकारी बसों को क्षतिग्रस्त करने के साथ ही चांदबेड़िया, दूरमूथसमेत कांथी शहर में भाजपा ने तृणमूल कांग्रेस के तीन पार्टी कार्यालयों पर हमला किया। आरोप है कि भाजपा समर्थकों ने भारी संख्या में इकट्ठा होकर हमला किया।

तृणमूल कांग्रेस के जिला अध्यक्ष शिशिर अधिकारी ने कहा कि इलाके में अशांति फैलाने के लिए भाजपा ने योजनाबद्ध तरीके से हिंसा की है। हमारे पार्टी कार्यालयों में आग लगाने के साथ ही बसों में तोड़फोड़ की गई। हिंसा फैलाने वालों का तृणमूल विरोध करेगा। शाह की सभा के बारे में उन्होंने कहा कि वह भाजपा की कोई सभा नहीं थी, दरअसल वे ममता बनर्जी की ब्रिगेड देख कर भयभीत हो गए हैं। राज्य के लोग तृणमूल के साथ हैं, विधानसभा में लोगों ने बता दिया है। हिंसा फैला कर लोगों को आतंकित करने का भाजपा का प्रयास सफल नहीं होगा क्योंकि लोग हमारे साथ हैं।

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने बुधवार को पत्रकारों को बताया कि कांथी में हुई हिंसा के बारे में हम चुनाव आयुक्त को सूचित कर रहे हैं। बंगाल की वास्तविक स्थिति की हम जानकारी देंगे। उन्होंने दावा किया कि अभी तक उनके कई कार्यकर्ता रैली के बाद घर नहीं लौटे हैं। त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब देव ने इस मौके पर कहा कि कानून व्यवस्था राज्य की जिम्मेवारी है और दूसरों पर दोषारोपण करके मुख्यमंत्री बच नहीं सकती हैं। सूत्रों के मुताबिक गृह मंत्री ने मुख्यमंत्री को फोन करके घटना की जानकारी ली, तब मुख्यमंत्री ने कहा था कि यह सब भाजपा के नेता और कार्यकर्ता कर रहे हैं, आप उन्हें संयत रहने के लिए कहिए। भाजपा के नेता और कार्यकर्ता यहां अशांति फैला रहे हैं।

इधर, पुलिस का कहना है कि कांथी में हुई घटना की जांच की जा रही है। इस बारे में अभी तक कुल मिलाकर 11 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इस मामले में गवाहों से पूछताछ करने के साथ ही टीवी फुटेज को भी खंगाला जा रहा है।


॥●॥ प्रधानमंत्री साबित करते दिखाएं कि पेंटिंग बेच कर पैसा लिया : ममता


मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ललकारते हुए कहा है कि अगर उनमें हिम्मत है तो साबित करके दिखाएं कि उन्होंने पेंटिंग की बिक्री करके पैसे लिये हैं। तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की टिप्पणी के जवाब में यह कहा है। शाह ने एक रैली में कहा था कि चिटफंड के मालिकों ने करोड़ों रुपए में ममता की पेंटिंग खरीदी हैं।

बीरभूम जिले में एक जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा नेताओं में कोई शिष्टाचार नहीं है और उनका दल इस तरह के आधारहीन आरोपों के मामले में मानहानी का केस कर रहा है। पेटिंग बिक्री करके करोड़ों रुपए लेने के आरोप के जवाब में जोरदार हमला बोलते हुए ममता ने कहा कि मोदी बाबू, मैं आपको चैलेंज देती हूं कि यह साबित करके दिखाएं कि एक पैसा भी मेरे बैंक खाते में जमा हुआ हो। आप बर्बर की तरह बातें कर रहे हैं और कोई शिष्टाचार नहीं है।


॥●॥ अमित शाह को मानहानि नोटिस-


तृणमूल कांग्रेस की वरिष्ठ नेता चंद्रिमा भट्टाचार्य ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के खिलाफ मानहानि नोटिस जारी किया। राज्य की मुख्यमंत्री के खिलाफ दिए गए बयान को लेकर शाह को नोटिस जारी किया गया है। पश्चिम बंगाल सरकार में स्वास्थ्य मंत्री भट्टाचार्य ने शाह पर तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख की छवि झूठ बोलकर खराब करने की कोशिश का आरोप लगाया। उन्होंने कहा- मैंने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को ममता बनर्जी के खिलाफ अपमानजनक और दुर्भावनापूर्ण बयान देने के लिए नोटिस जारी किया है।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x