अंतर्राष्ट्रीय इक्विस्ट्रियन चैलेंज शो में प्रणय खरे ने जीता एक स्वर्ण और एक रजत पदक

भोपाल। कोरोना काल के साढ़े सात माह बाद मध्य प्रदेश राज्य घुड़सवारी अकादमी के खिलाड़ी अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर पदक जीत रहे हैं और मध्य प्रदेश का मान बढ़ा रहे हैं।

इसी अनुक्रम में घुड़सवारी अकादमी के प्रतिभावान खिलाड़ी प्रणय खरे ने बैंगलूरू में गत दिवस इंटरनेशनल राइडिंग स्कूल द्वारा आयोजित इक्विस्ट्रियन चैलेंज शो जम्पिंग 2020 में एक स्वर्ण और एक रजत पदक अर्जित किया। प्रणय ने शो जम्पिंग के 1.30 मीटर ओपन केटेगरी इवेन्ट में स्वर्ण पदक और 1.20 मीटर ओपन केटेगरी में रजत पदक जीता। उन्होंने यह पदक अपने घोड़े वनीला स्काई के साथ प्रदर्शन करते हुए अर्जित किए। इन पदकों के साथ प्रणय खरे ने अभी तक कुल 163 पदक अर्जित किए हैं।

प्रणय खरे की इस उपलब्धि के लिए उन्हें खेल और युवा कल्याण मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने बधाई देते हुए कहा कि कोरोना काल के लम्बे अंतराल के बावजूद हमारे खिलाड़ियों के उत्साह और प्रतिभा प्रदर्शन में कोई कमी नहीं आयी है। मध्य प्रदेश राज्य घुड़सवारी अकादमी के खिलाड़ी अपने उत्कृष्ट प्रदर्शन से लगातार पदक जीतकर मध्य प्रदेश का नाम रोशन कर रहे हैं।

पवन कुमार जैन ने पदक विजेता खिलाड़ी प्रणय खरे के प्रदर्शन की सराहना करते हुए बताया कि मध्य प्रदेश राज्य घुड़सवारी अकादमी देश की श्रेष्ठतम अकादमी है जहां खिलाड़ियों ने राष्ट्रीय स्तर पर सर्वाधिक पदक अर्जित किए हैं। उन्होंने बताया कि खेलमंत्री यशोधरा राजे सिंधिया जी की पहल और प्रयासों से स्थापित घुड़सवारी अकादमी के माध्यम से खिलाड़ियों को विश्व स्तरीय खेल सुविधाएं उपलब्ध करायी जा रही हैं।

अकादमी के घुड़सवार प्रणय खरे ने अंतर्राष्ट्रीय इक्विस्ट्रियन चैम्पियनशिप में तीन स्वर्ण, एक रजत और एक कांस्य सहित पांच पदक देश को दिलाए हैं। जबकि उन्होंने जूनियर नेशनल इक्विस्ट्रिीयन चैम्पियनशिप में 17 स्वर्ण, 05 रजत और 02 कांस्य सहित 24 पदक और सीनियर में दो स्वर्ण, चार रजत और एक कांस्य सहित सात पदक मध्य प्रदेश को दिलाए हैं। इसके अलावा रीजनल एवं प्रीमियर इक्विस्ट्रिीयन लीग तथा हॉर्स शो में अब तक 51 स्वर्ण, 44 रजत और 32 कांस्य पदक अर्जित किए हैं। प्रणय खरे घुड़सवारी अकादमी के मुख्य प्रशिक्षक कैप्टन भागीरथ के मार्गदर्शन में प्रशिक्षणरत है।

 

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x