प्रधानमंत्री ने गंतव्य उत्तराखंड :  निवेशक सम्मेलन 2018 को संबोधित किया – 

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने देहरादून में गंतव्य उत्तराखंड : निवेशक सम्मेलन 2018 को संबोधित किया।

उन्होंने कहा कि भारत तेज बदलाव के समय से गुजर रहा है। उन्होंने कहा कि यह व्यापक रूप से स्वीकार कर लिया गया है कि भारत आगे आने वाले दशकों में विश्व विकास का एक प्रमुख वाहक बनेगा। उन्होंने कहा कि भारत में आर्थिक सुधारों की गति एवं परिमाण अभूतपूर्व है। इस संदर्भ में उन्होंने उल्लेख किया कि भारत की व्यवसाय करने की सरलता रैंकिंग में 42 अंकों का सुधार आया है। प्रधानमंत्री ने कराधान में शुरू किए गए सुधारों की चर्चा की। उन्होंने कहा कि दिवाला एवं दिवालियापन कोड ने व्यवसाय करने को और आसान बना दिया है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि जीएसटी का कार्यान्वयन स्वतंत्रता के बाद से अब तक का सबसे बड़ा कर सुधार है। उन्होंने कहा कि इसने देश को एकल बाजार में रूपांतरित कर दिया है और कर आधार बढ़ाने में सहायता की है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि बुनियादी ढांचा क्षेत्र की तेज गति से प्रगति हो रही है। उन्होंने सड़क निर्माण, रेल लाइन निर्माण, नए मेट्रो प्रणालियों, उच्च गति रेल परियोजना तथा समर्पित मालवाहक कॉरीडोर की तेज गति के बारे में बताया। प्रधानमंत्री ने उड्डयन क्षेत्र और आवास, बिजली, स्वच्छ ऊर्जा, स्वास्थ्य एवं लोगों के लिए बैंकिंग सेवाओं के क्षेत्र में की गई प्रगति का उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि हाल ही में आरंभ की गई आयुष्मान भारत योजना श्रेणी-2 और श्रेणी-3 के नगरों में चिकित्सा अवसंरचना के विकास को बढ़ावा देगी।

प्रधानमंत्री ने कहा कि नवीन भारत निवेश के लिए एक महान गंतव्य है और “गंतव्य उत्तराखंड” इस भावना का प्रतिनिधित्व करता है। उन्होंने राज्य में निवेशकों को सुविधा देने के लिए किए गए उपायों की चर्चा की। उन्होंने हर मौसम के लिए अनुकूल चारधाम सड़क परियोजना एवं ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल लाइन परियोजना सहित राज्य में संपर्क में सुधार लाने के लिए की गई पहलों की प्रगति के बारे में भी चर्चा की। प्रधानमंत्री ने पर्यटन क्षेत्र में राज्य की प्रचुर क्षमता का उल्लेख किया।

प्रधानमंत्री ने खाद्य प्रसंस्करण एवं नवीकरणीय ऊर्जा क्षेत्रों में उठाए गए कदमों की चर्चा की। उन्होंने “मेक इन इंडिया” की उपलब्धियों का भी उल्लेख किया।

  

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x