पाकिस्‍तानी ही था, पुलवामा अटैक का मास्‍टरमाइंड कायर गाजी, IED बनाने में था माहिर-

नई दिल्‍ली।

पुलवामा में सीआरपीएफ काफिला पर अटैक के चार दिन बाद सुरक्षाबल के जवानों ने इस घटना के मास्टरमाइंड और जैश के टॉप कमांडर गाजी रशीद को एनकाउंटर में मार गिराया है। इसे सेना की एक बड़ी कामयाबी माना जा रहा है। अब सुरक्षाबलों ने इस बात का भी खुलासा कर दिया है कि जैश का आतंकी गाजी पाकिस्‍तान से आया था। बता दें कि 4 दिन पहले जैश के इस आतंकी ने पुलवामा में फिदायीन हमला कर सीआरपीएफ की बस को उड़ा दिया था। घटना में 44 सीआरपीएफ जवान शहीद हो गए थे।
2 सहयोगियों के साथ आया था कायर भारत – 

दरअसल, पिछले साल सुरक्षाबलों ने त्राल में हुए एक मुठभेड़ में स्नाइपर और मौलाना मसूद अजहर के भतीजे को मार गिराया था। इसी के बाद जैश-ए-मोहम्मद ने अपने टॉप कमांडर और आईईडी एक्सपर्ट गाजी रशीद को कश्मीर भेजा। गाजी कथित तौर पर घुसपैठ कर दक्षिणी कश्मीर पहुंचने में सफल रहा था। जानकारी के मुताबिक गाजी अपने 2 सहयोगियों के साथ दिसंबर में भारत में घुसपैठ किया था। उसके बाद वो दक्षिण कश्मीर में भूमिगत हो गया था।

खुफिया सूत्रों के मुताबिक इससे पहले रत्नीपुरा गांव में कुछ ही दिन पहले हुए मुठभेड़ में गाजी रशीद भाग निकलने में सफल रहा था। आपको बता दें कि सुरक्षाबलों ने बीती रात 12 बजे ऑपरेशन शुरू किया था। इस मुठभेड़ में आखिरकार गाजी मारा गया। सुरक्षाबलों ने बड़ी कार्रवाई करते हुए उस बिल्डिंग को ही उड़ा दिया जिसमें आतंकी छिपे हुए थे। इस ऑपरेशन में 55आरआर, सीआरपीएफ और एसओअी के जवान लगाए गए थे। इस मुठभेड़ में 4 जवान भी शहीद हो गए।

सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में मारा गया जैश का टॉप कमांडर गाजी कई आतंकी हमलों के लिए जिम्मेदार था। गाजी ने 2008 में जैश-ए-मोहम्मद ज्वाइन किया था। तालिबान में ट्रेनिंग ली थी। 2010 में वह उत्तरी वजीरिस्तान आ गया था। ट्रेनिंग लेने के बाद से ही गाजी आतंक की दुनिया में शामिल हो गया। कुछ ही समय बाद उसने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर के इलाके में युवा लड़ाकों को ट्रेनिंग करनी शुरू दी थी।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x